ALL उत्तरप्रदेश विदेश राष्ट्रीय शिक्षा खेल धर्म-अध्यात्म मनोरंजन संपादकीय epaper
आगरा निगम बना रिश्वतखोरी कमीशनखोरी का अड्डा
November 21, 2019 • Tariq • उत्तरप्रदेश

 

खत एक महीने पुराना ही सही लेकिन सुबह सुबह सोशल मीडिया पर दिखाई दे गया तो सोचा आपको जानकारी दे दूँ कि अब मंत्री जी जाग गए हैं और काम करना शुरू कर दिया है। इसीलिए सभी सरकारी कर्मचारियों को यह हिदायत दी जाती है कि अभी तक जो हुआ सो हुआ लेकिन जनसमस्याओं के कार्यों में किसी भी तरह की लापरवाही बरतने पर उसकी खिलाफ विभागीय कार्यवाही की जाएगी।

मंत्री जी आपसे अनुरोध है कि ऐसा ही एक खत छावनी विधानसभा क्षेत्र की जनता के लिए लिख दो, इन्हें विकास कार्यों की बहुत जरूरत है। आपके विधानसभा क्षेत्र में खरंजे, स्ट्रीट लाइट, खराब सड़कें, खुले में शौंच, सफाई व्यवस्था जैसी कई सामाजिक समस्याओं का भंडार है जिसकी की किसी भी अधिकारी एवं जनप्रतिनिधि का ध्यान नहीं है।

उत्तर प्रदेश शासन तक पहुंचा आगरा नगर निगम में व्याप्त भ्रष्टाचार का मामला

राज्यमंत्री जीएस धर्मेश ने खत लिखकर की उचित कार्यवाही की मांग

आगरा। एक ओर तो सरकार आम जनता के लिए तमाम तरह योजनाएं चलाकर छवि सुधारने की कोशिश कर रही है तो वहीं आगरा नगर निगम में पदस्थ अधिकारीगण सरकारी खजाने और आम आदमी को चूना लगा रहे हैं। नगर निगम में भ्रष्टाचार का खेल किसी से छुपा नहीं है है इसीलिए पूर्व से लेकर आज तक न जाने कितने ही जनप्रतिनिधियों व आम जनता ने इसके खिलाफ कई बार शिकायत भी की हैं लेकिन दलाली और रिश्वतखोरी के दलदल में फंस चुके सरकारी तंत्र को बाहर निकालना इतना आसान भी नहीं है, फिर भी कोशिशें जारी हैं।
छावनी विधानसभा सीट से जीतकर राज्यमंत्री की कुर्सी पर पहुंचे राज्यमंत्री जीएस धर्मेश को आखिरकार नगर निगम में व्याप्त भ्रष्टाचार की याद आ ही गई तभी तो उन्होंने वित्त एवं संसदीय कार्य मंत्री मा0 सुरेश खन्ना उत्तर प्रदेश शाशन को चिट्ठी लिख ऐसे कर्मचारियों पर स्थानांतरण व उचित कार्यवाही की मांग की गई है जो भ्रष्टाचार के मामलों में पूरी तरह लिप्त हैं। शाशन स्तर पर राज्यमंत्री धर्मेश की ओर से लिखे गए शिकायत पत्र में नगर निगम में कार्यरत वित्त एवं लेखाधिकारी पवन कुमार पर ठेकेदारों पर ठेकेदारों से रिश्वत लेने व कमीशन माँगने जैसे गंभीर आरोप लगाए गए हैं।
अब देखना होगा कि शाशन स्तर से ऐसे भ्रष्टाचारियों क्या कार्यवाही होती है या ये नगर निगम में ररिश्वतखोरी और कमीशनबाजी के खेल इसी प्रकार चलता रहेगा?

 नितिन शुक्ला आगरा सवांददाता