ALL उत्तरप्रदेश विदेश राष्ट्रीय शिक्षा खेल धर्म-अध्यात्म मनोरंजन संपादकीय epaper
अनूठी शर्त-मास्क इस शर्त पर उपलब्ध करवाया जाएगा कि उसका वितरण साम्प्रदायिक, जातीय या अन्य प्रकार के भेदभाव के बगैर किया जाएगा
April 8, 2020 • Tariq • उत्तरप्रदेश

अनूठी शर्त-मास्क इस शर्त पर उपलब्ध करवाया जाएगा कि उसका वितरण साम्प्रदायिक, जातीय या अन्य प्रकार के भेदभाव के बगैर किया जाएगा

दूसरी शर्त ये होगी कि मास्क प्राप्त करने या वितरण करने में लॉक डाऊन की शर्तों का सख्ती से पालन किया जाएगा..

लखनऊ, 8 अप्रैल 2020, आज़मगढ़ के फातिमा गर्ल्स कालेज में आइसोलेशन (जन कटाव) में रखे गए लोगों की संख्या तेज़ी से बढ़ते हुए 150 के करीब हो गई है। महानगरों से आए हुए प्रवासी मज़दूरों की उसमें बड़ी संख्या है। उनके लिए खाना बनाने का स्टाफ तीस के करीब है। 
रिहाई मंच नेता तारिक शफीक ने वहां ड्युटी पर मौजूद डाक्टरों से मुलाकात की। डाक्टरों ने संजरपुर में बने हुए मास्क को प्रमाणित किया। रिहाई मंच द्वारा आइसोलेशन सेंटर में सभी के लिए मास्क उपलब्ध करवाए और  कहा कि हम आगे भी ऐसा करते रहेंगे। इस सेवा का अवसर देने के लिए डाक्टर्स और प्रशासनिक अधिकारियों को धन्यवाद। तीन दलित बस्तियों दाऊदपुर, विट्ठलपुर, खिल्लूपुर और यादव बस्ती खलीलाबाद में मास्क वितरण का काम लगभग पूरा हो गया। इस बीच जानकारी प्राप्त हुई कि कुछ लोग मास्क लेना तो चाहते हैं लेकिन मुफ्त मास्क लेने में उनका आत्मसम्मान आड़े आ रहा है। रिहाई मंच नेता ने कहा हम इस भावना की कदर करते हैं। कुछ अन्य गांवों के लोग अपनी आबादी में मास्क बंटवाना चाहते हैं लेकिन सिलाई का प्रबंध नहीं है। महामारी बढ़ने की आशंका और पास में ही आईसोलेशन सेंटर खुलने से लोगों में आशंकाएं बढ़ी है, जागरूकता भी बढ़ी है और मास्क के बारे में उन्होंने गंभीरता से सोचना शुरू कर दिया है। तय किया गया कि गरीबों के लिए हमारी सेवा यथावत जारी रहेगी। 

दूसरी शर्त ये होगी कि मास्क प्राप्त करने या वितरण करने में लॉक डाऊन की शर्तों का सख्ती से पालन किया जाएगा..

मास्क इस शर्त के साथ उपलब्ध करवाया जाएगा कि उसका वितरण बिना किसी भेदभाव (साम्प्रदायिक, जातीय या अन्य प्रकार के भेदभाव) के किया जाएगा। 
दूसरी शर्त ये होगी कि मास्क प्राप्त करने या वितरण करने में लॉक डाऊन की शर्तों का सख्ती से पालन किया जाएगा। 

सिलाई करने के लिए उन महिलाओं को वरीयता दी जाएगी जिन्होंने अब तक मु्फ्त में सेवा भाव से सिलाई का काम किया है ताकि वे अपने परिवार के लिए कुछ अर्जित भी कर सकें। कोई दुकानदार मास्क के लिए सम्पर्क न करे। अगर कोई हमारा मास्क बेचता हुआ पाया गया तो उसके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

रिपोर्ट @ आफाक अहमद मंसूरी