ALL उत्तरप्रदेश विदेश राष्ट्रीय शिक्षा खेल धर्म-अध्यात्म मनोरंजन संपादकीय epaper
बोर्ड परीक्षा  का बिगुल : हिंदी में लेखन शैली, समय प्रबंधन और शब्द सीमा का रखें ध्यान, एक्‍सपर्ट ने दिए ये टिप्‍स
February 14, 2020 • Tariq • राष्ट्रीय

 

बोर्ड परीक्षा  का बिगुल : हिंदी में लेखन शैली, समय प्रबंधन और शब्द सीमा का रखें ध्यान, एक्‍सपर्ट ने दिए ये टिप्‍स।

सीबीएसई की परीक्षाएं सर पर हैं। इस लिए बिना समय व्यर्थ किए, रिवीजन में जुट जाएं। हाईस्कूल व इंटरमीडिएट में हिंदी भी एक महत्वपूर्ण विषय है। इसे हल्के में लेने की गल्ती न करें। अन्य विषयों के तरह हिंदी की तैयारी पर भी बराबर व नियमित समय दें। इससे निश्चित तौर पर आप को परीक्षा में लाभ मिलेगा। दैनिक जागरण के बोर्ड का बिगुल अभियान के क्रम में मंगलवार को हिंदी विषय की प्रवक्ता अनुपमा श्रीवास्तव ने सीबीएसई 12वीं के परीक्षार्थियों को फोन पर परीक्षा से सुझाव दिए। साथ ही परीक्षार्थियों की विषय से जुड़ी शंकाओं का समाधान किया और महत्वपूर्ण टिप्स दिए।
Q: अच्छे अंक के लिए क्या करना होगा?
(रितिका मिश्रा, लखनऊ)
A: सर्वप्रथम अंक के आधार पर ही प्रश्न का उत्तर लिखें। व लेखन शैली व प्रस्तुतिकरण पर विशेष ध्यान दें।
Q: कौन कौन से पाठ महत्वपूर्ण हैं? जिनकी अच्छी तैयारी का लाभ मिलेगा।(कार्तिक बाजपेई, उन्नाव)
A: सभी पाठ महत्वपूर्ण होते हैं, फिर भी आप काव्य में आत्मपरिचय, सहर्ष स्वीकारा है, कैमरे में बंद अपाहिज, छोटा मेरा खेत, कवितावली और बात सीधी थी पर विशेष ध्यान दें। गद्य में क्रमश: सभी महत्वपूर्ण हैं।
Q: हिंदी विषय में नंबर कम मिलते हैं, तैयारी कैसे करें? (पंकज सिंह, रायबरेली)
A: सभी पाठ को ध्यान से पढ़े, तथा प्रश्नों के सटीक व तथ्यपरक उत्तर दें। सैंपल पेपर हल करें। इसका लाभ मिलेगा।
Q: जनसंचार कैसे तैयार करें? (रोहित शुक्ला, लखनऊ)
A: संपादकीय और समाचार लेखन से संबंधित प्रश्न भली भांति याद करें।
Q: प्रश्नों का उत्तर कैसे लिखें कि अंक अच्छे आएं? (अमन मिश्रा, लखनऊ)
A: प्रश्नों का उत्तर सुंदर लेख में व जितना वांछित हो उतना ही लिखें।
Q: प्रश्नों के उत्तर जल्दी जल्दी लिखने पर भी पेपर छूट जाता है, क्या करें? (रेखा वर्मा, लखनऊ)
A: प्रश्नों का उत्तर अंकों के आधार पर ही लिखें व शब्द सीमा का ध्यान जरूर रखें।
Q: क्या पेपर के पैटर्न में परिवर्तन किया गया है? (कविता यादव, रायबरेली)
A: नहीं, कुछ खास परिवर्तन नहीं हुआ है। केवल प्रश्नों के अंक में परिवर्तन आया है। जनसंचार के प्रश्न पांच अंक के हो गए हैं। फीचर व आलेख पहले 4 व 3 अंक के आते थे, अब पांच अंक के आएंगे। च्वाइस बढ़ गया है। काव्यांश पर आधारित प्रश्न 8 अंक की जगह 6 अंक के आएंगे।
Q: कौन कौन से प्रश्न महत्वपूर्ण हैं? जिन्हें याद किया करें। (रजत शुक्ला, सीतापुर)
A: प्रश्न सभी महत्वपूर्ण होते हैं। आप बस पाठ अच्छे से पढ़ें व समझे तो आप सभी प्रश्नों के उत्तर आसानी से लिख सकेंगे।
Q: व्याकरण में क्या क्या व कितने नंबर का आएगा? (चंद्रभान, लखनऊ)
A: व्याकरण 20 नंबर का आएगा, जिसमें जनसंचार 5 अंक का व पांच अंक का आलेख। फीचर पांच अंक का पत्र व पांच अंक का रचनात्मक लेख होगा।
Q: काव्य व गद्य से कितने अंक के प्रश्न आएंगे? (रोहित सिंह, लखनऊ)
A: काव्य व गद्य से 16, 16 अंक के प्रश्न आएंगे। काव्यांश पर आधारित व गद्यांश पर आधारित प्रश्न तथा पाठ पर आधारित प्रश्नोत्तर।
महत्वपूर्ण टिप्स

प्रश्नों का उत्तर जितने शब्दों में पूछा गया हो, कोशिश करें कि उतने ही शब्दों में दें।

समय प्रबंधक का विशेष ध्यान रखें।

सभी प्रश्न हल करने का प्रयास करें, कोई भी प्रश्न छोड़े नहीं।

लेखन शैली व उत्तर प्रस्तुतिकरण पर विशेष ध्यान दें।

एनसीआरटी के सभी प्रश्नों को भली भांति याद करके ही जाएं

प्रश्नों का उत्तर आवश्यकता से अधिक न दें, क्योंकि उससे अंक ज्यादा नहीं मिलेंगे।

तर्क पर आधारित सटीक उत्तर लिखें।

मुख्य बिंदुओं को रेखांकित अवश्य करें।

प्रश्न पत्र के प्रश्नों को अंक के आधार पर ही उतना ही समय दें, जितना वांछित हो।

त्रिलोकी नाथ 
  रायबरेली