ALL उत्तरप्रदेश विदेश राष्ट्रीय शिक्षा खेल धर्म-अध्यात्म मनोरंजन संपादकीय epaper
द इंस्टिट्यूट ऑफ चार्टर्ड एकाउंटेंट्स ऑफ इंडिया शाखा ने किया वर्कशॉप का आयोजन
February 4, 2020 • Tariq • उत्तरप्रदेश

 

द इंस्टिट्यूट ऑफ चार्टर्ड एकाउंटेंट्स ऑफ इंडिया शाखा ने किया वर्कशॉप का आयोजन

आगरा। द इंस्टीट्यूट ऑफ चार्टर्ड एकाउंटेंट्स ऑफ इंडिया की शाखा द्वारा कल दिनांक 3/2/2020 को शाम 5 बजे शाखा कार्यालय ब्लॉक 77, संजय प्लेस, आगरा पर एक  वर्कशॉप का आयोजन किया गया।

वर्कशॉप का उदघाटन शाखा के पूर्व अध्यक्ष सीए एम. सी. जैन एवं वक्ता प्रेम गुल द्वारा माँ सरस्वती की प्रतिमा के समक्ष दीप प्रज्वलित कर किया गया। वर्कशॉप में विषय union budget - 2020 पर सीए प्रेम गुल ने उपस्थित होकर सदस्यों का मार्गदर्शन किया।

उन्होंने बताया की वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने दूसरी बार आम बजट पेश किया है। वित्तमंत्री का कार्यभार संभालने के बाद निर्मला सीतारमण के सामने कई आर्थिक चुनौतियों रही हैं। इस कारण मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल के पहले पूर्ण बजट को बहुत ही अहम माना जा रहा है।

वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने इनकम टैक्स स्लैब को लेकर कहा कि पाँच लाख रुपये तक कि सालाना आय पर कोई टैक्स नहीं देना होगा। 5 से 7.5 लाख रुपए सालाना आय पर 10 फीसदी टैक्स का प्रस्ताव 7.5 लाख रुपए से 10 लाख रुपए सालाना की आय पर 15 फीसदी टैक्स का प्रस्ताव और 10 लाख रुपए से 12.5 लाख रुपए सालाना की आय पर 20 फीसदी टैक्स का प्रस्ताव दिया। 12.5 लाख रुपए से 15 लाख रुपए की सालाना आय पर 25 फीसदी टैक्स का प्रस्ताव रखा गया है।

वित्तमंत्री ने बताया कि इन-डायरेक्ट टैक्स के मुकदमों की संख्या कम करने को लाई गई उसबका स्कीम 189000 से अधिक मामलों का निपटारा किया गया।  सरकार ने साल 2020 और 2021 में 10 फीसदी विकास दर हासिल करने का लक्ष्य रखा गया है।

वित्तमंत्री ने कहा कि हमने उपलब्ध रुझानों को देखते हुए 2020 - 21 के लिए जीडीपी के नॉमिनल वृद्वि का अनुमान 10 फीसदी लगाया है। राजकोषीय घाटे को लेकर वित्तमंत्री ने बताया कि 2020 - 21 में इसके 3.5 प्रतिशत रहने का अनुमान है। ये साल 2019 - 20 में 3.8 प्रतिशत है। वित्तमंत्री ने स्टार्टअप प्रणाली को बढ़ावा देने के लिए टैक्स में रियायत लाभ की 100% कटौती के लिए कुल कारोबार की सीमा 25 करोड़ से बढ़ाकर 100 करोड़ किया जाएगा।

वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने विदेशी सरकारों और अन्य विदेशी निवेश की सावरेन धन निधि के लिए टैक्स रियायत की घोषणा की। डिविडेंड इनकम को लेकर शेयर होल्डर्स को एक बड़ी राहत दी है। वित्तमंत्री ने अपने बजट भाषण में ऐलान किया कि केंद्र सरकार डिविडेंट डिस्ट्रीब्यूशन टैक्स यानी ( डीडीटी ) को पूरी तरह से वापस ले लिया है।

वर्कशॉप का संचालन शाखा सचिव सीए आशीष जैन द्वारा किया गया एवं धन्यवाद ज्ञापन शाखा कोषाध्यक्ष सीए गौरव बंसल द्वारा किया गया।

वर्कशॉप में मुख्य रूप से सीए आलोक कुमार अग्रवाल, सीए विवेक अग्रवाल, सीए सर्वेश वाजपेयी, सीए अतुल अग्रवाल, सीए दीपक खंडेलवाल, सीए विजय भार्गव, सीए रामलाल अग्रवाल, सीए वीरेन्द्र अग्रवाल, सीए मृदुल गर्ग, सीए शरद मंगल, सीए अविरल अग्रवाल, सीए रविन्द्र गोयल, सीए लोकेश गर्ग व सीए चमन गुप्ता आदि की मौजूदगी रही।

नितिन शुक्ला