ALL उत्तरप्रदेश विदेश राष्ट्रीय शिक्षा खेल धर्म-अध्यात्म मनोरंजन संपादकीय epaper
दिल्ली के मामले की जांच हो, लोग आगे आकर अपना टेस्ट करवाएं- मौलाना खालिद रशीद
March 31, 2020 • Tariq • राष्ट्रीय

दिल्ली के मामले की जांच हो, लोग आगे आकर अपना टेस्ट करवाएं- मौलाना खालिद रशीद

कहा तबलीगी जमात एक धार्मिक संगठन है जो दुनियाभर में प्यार, मुहब्बत और अच्छे व्यवहार का पैगाम पहुंचाने की कोशिश करते हैं..

लखनऊ, 31 मार्च 2020, ऐशबाग ईदगाह के इमाम मौलाना खालिद रशीद फरंगी महली ने कहा कि तबलीगी जमात एक धार्मिक संगठन है जो दुनिया भर में फैला हुआ है। ये संस्था एक रिलीजियस संस्था है जो लोगों को रोज, हज, नमाज जकात के बारे में बताती है इसका मकसद ये है कि एक इंसान का दूसरे इंसान से क्या व्यव्हार होना चाहिए। उस पर ये लोग काम करते हैं और प्यार का पैगाम दुनिया भर में पहुंचाने की कोशिश करते हैं। उसी के चलते ये हमारे मुल्क में तशरीफ लाते हैं और मरकज निजामुद्दीन में रहते हैं। वहां पर जो हुआ है ये बहुत ही ज्यादा अफसोस नाक है इसकी जांच होनी चाहिए और उसके मुताबिक ही जिम्मेदारियां तय होनी चाहिए। मेरी तमाम लोगों से गुजारिश है जो कि मरकज में शामिल हुए हैं कि वह मुल्क के जिस भी हिस्से में गए हो वहां के स्थानीय प्रशासन को अपनी जानकारी दें। अपना टेस्ट कराएं जिससे कि प्रशासन उनकी भी जांच करके इलाज कर सकें उनकी जान की हिफाजत को यकीनी बना सके और आप के जरिए से किसी दूसरे को यह बीमारी ना लगे यह आपका मजहबी दायित्व है। मजहब इस्लाम में इंसान की जान को बहुत ज्यादा अहमियत दी गई है।

दिल्ली निजामुद्दीन का मामला..

कोरोना वायरस के संक्रमण के बीच दिल्ली के निजामुद्दीन में 13 से 15 मार्च के बीच सम्पन्न इस जमात में उत्तर प्रदेश के 19 जिलों से करीब 160 लोग गए थे। उत्तर प्रदेश के लोगों का इस चार दिवसीय जमात में विदेशियों से भी सम्पर्क हुआ था। जमात में शामिल तेलंगाना के छह लोगों की कोरेना वायरस के संक्रमण मौत हो गई है जबकि दो दर्जन से अधिक पॉजिटिव मिले हैं। इनमें उत्तर प्रदेश के भी हो सकते हैं। सरकार अब इस जमात में शिरकत करने गए उत्तर प्रदेश के 19 जिलों के लोगों की शिनाख्त के साथ ही उनकी कोरोना जांच कराने में भी लगी है। इनमें सर्वाधिक 28 मुजफ्फरनगर के हैं जबकि मेरठ के 24 तथा लखनऊ के 20 लोग हैं। तब्लीगी जमात में लखनऊ, गाजियाबाद, मेरठ, सहारनपुर, मुजफ्फरनगर, शामली, हापुड़, बिजनौर, बागपत, वाराणसी, भदोही, मथुरा, आगरा, सीतापुर, बाराबंकी, प्रयागराज, बहराइच, गोंडा और बलरामपुर के लोग शामिल होने गए थे। इस जमात में शामिल होने गए प्रदेश से गए सभी लोग दिल्ली में हैं और उन्हें वहां के अस्पतालों में क्वारंटाइन किया गया है।  

रिपोर्ट @ आफाक अहमद मंसूरी