ALL उत्तरप्रदेश विदेश राष्ट्रीय शिक्षा खेल धर्म-अध्यात्म मनोरंजन संपादकीय epaper
होमगार्ड फर्ज़ीवाड़े में लखनऊ के जिला कमांडेंट ग्रिफ्तार
November 22, 2019 • Tariq • उत्तरप्रदेश

होमगार्ड के वेतन घोटाला के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की सख्ती के बाद पुलिस प्रशासन अलर्ट हो गया है। भ्रष्टाचार के प्रति जीरो टालरेंस की नीति के तहत प्रदेश में बीते दो सप्ताह में 10 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है। 
होमगार्ड ड्यूटी का फर्जी मस्टररोल बनाकर करोड़ों का वेतन घोटाला करने के मामले में गुरुवार को पुलिस ने लखनऊ में जिला कमांडेंट को गिरफ्तार किया है। इससे पहले बुधवार को इसी मामले में नोएडा पुलिस ने अलीगढ़ के मंडलीय कमांडेंट सहित पांच लोगों को गिरफ्तार किया था। 

ऑपरेशन-420 के तहत होमगार्ड के फर्जी और कूट रचित दस्तावेज तैयार कर सरकारी धन का गबन करने के संबंध में बुधवार देर रात मुकदमा दर्ज किया गया और गुरुवार सुबह लखनऊ के जिला कमांडेंट कृपा शंकर पाण्डेय को गिरफ्तार कर लिया गया। 

जिला कमांडेंट कृपा शंकर पाण्डेय पर फर्जी ड्यूटी लगाकर सरकारी धन के बंदरबांट का आरोप है। फिलहाल पुलिस मामले की जांच कर रही है। 
आपको बता दें कि इससे पहले बुधवार को होमगार्ड ड्यूटी का फर्जी मस्टररोल बनाकर करोड़ों का वेतन घोटाला करने के मामले में नोएडा पुलिस ने अलीगढ़ के मंडलीय कमांडेंट सहित पांच लोगों को गिरफ्तार किया था। 

गिरफ्तार मंडल कमांडेंट दो वर्ष तक नोएडा के जिला कमांडेंट थे। उस दौरान सबसे ज्यादा अवैध वेतन की निकासी हुई। अन्य आरोपियों में सहायक जिला कमांडेंट और तीन अवैतनिक प्लाटून कमांडर शामिल हैं। इस बीच, राज्य शासन ने पूरे प्रदेश में होमगार्ड ड्यूटी का सत्यापन करवाने का फैसला किया है। 

एक हफ्ते में प्रक्रिया पूरी करने का निर्देश दिया गया है। तब तक अक्तूबर तक का वेतन रोक दिया गया है। गौतमबुद्धनगर के एसएसपी वैभव कृष्ण ने बताया, जुलाई 2019 में एक प्लाटून कमांडर ने वेतन में अनियमितता की शिकायत की थी। इसकी जांच एसपी सिटी ने की। 

मई-जून के वेतन निकासी की जांच में पता चला कि सात लाख रुपये से ज्यादा का घोटाला हुआ है। ड्यूटी के फर्जी मस्टररोल बनाकर अवैध निकासी की जाती थी। इसमें जिला कमांडेंट की सहमति थी। 

तरन्नुम फरीदी की रिपोर्ट