ALL उत्तरप्रदेश विदेश राष्ट्रीय शिक्षा खेल धर्म-अध्यात्म मनोरंजन संपादकीय epaper
कहाँ है तुम्हारा एन्टी रोमियो स्क्वाड ?
December 6, 2019 • Tariq • उत्तरप्रदेश

 

कहाँ है तुम्हारा एन्टी रोमियो स्क्वाड ?

जिस तरह से हैदराबाद में अपराधियों का खात्मा किया गया है उससे उत्तर प्रदेश की कानून व्यवस्था को सीख लेनी चाहिए कि किस प्रकार से असामाजिक तत्वों की बोलती बंन्द कर देनी चाहिए।

यहाँ तो आगरा पुलिस को दीपक धनगर को ही खोजने में महीनाभर लग गया। मुझे नहीं लगता कि बलात्कार जैसे घोर अपराध में लिप्त किसी मुजरिम को अदालती कार्यवाही में कोई सहायता मिलनी चाहिए।

जब 2017 को उत्तर प्रदेश में सत्ता परिवर्तन हुआ था तब सूबे की सरकार ने बेटियों की सुरक्षा व्यवस्था को ध्यान में रखते हुए एन्टी रोमियो स्क्वाड दल
 का गठन किया था लेकिन यहाँ चौंकाने वाली बात है कि उसी एन्टी रोमियो स्क्वाड की नाक के नीचे रोजाना लकड़ियों के साथ छेड़छाड़ तथा बलात्कार जैसी घटनाएं हो रही हैं और सरकार मूकदर्शक बनी तमाशा देख रही है।

अब समय आ गया है कि कानून के प्रति अपराधियों में इतना भय पैदा किया जाए कि कोई भी महिलाओं के साथ इस तरह का घिनौना अपराध ना कर सके, लेकिन उत्तर प्रदेश में व्याप्त जातिवाद की राजनीति ने यहाँ की कानून व्यवस्था को लचर बना दिया है उसका इस्तेमाल नेता व अपराधी अक्सर अपने हित एवं बचाव के लिए करते रहे हैं।

कभी कभी समाज में बढ़ते अपराधों के ग्राफ को देखकर ऐसा लगता है मानो इन पर लगाम लगाने और नियंत्रण करने काम योगी जी, उनके कार्यकर्ताओं तथा सत्त्ता की मलाई चाट रहे मंत्रियों के बस का नहीं है इसीलिए तो ये सत्ताधारी एन्टी रोमियो स्क्वाड दल का गठन करके गहरी नींद सो गए तो वहीं दूसरी तरफ इनका एन्टी रोमियो स्क्वाड दल क्या कर रहा है मुख्यमंत्री जी को इसकी जानकारी ही नहीं है।

....तो मुमकिन है..

लेख: नितिन शुक्ला