ALL उत्तरप्रदेश विदेश राष्ट्रीय शिक्षा खेल धर्म-अध्यात्म मनोरंजन संपादकीय epaper
कमिश्नर और आईजी के समझाने पर उन्नाव रेप पीड़िता का परिवार अंतिम संस्कार को राजी, मिलेगी सुरक्षा
December 8, 2019 • Tariq • उत्तरप्रदेश

 

कमिश्नर और आईजी के समझाने पर उन्नाव रेप पीड़िता का परिवार अंतिम संस्कार को राजी, मिलेगी सुरक्षा

राज्य मुख्यालय 

उन्नाव में रेप पीड़िता का परिवार अंतिम संस्कार में सीएम योगी आदित्यनाथ को बुलाने पर अड़ा हुआ था। लेकिन प्रशासन ने रविवार सुबह रेप पीड़िता के परिजनों को कई घंटे तक समझाया-बुझाया, इसके बाद परिवार अंतिम संस्कार के लिए तैयार हो गया है।

इससे पहले रेप पीड़िता के शव का अंतिम संस्कार सुबह ही होना तय हुआ था लेकिन परिजनों ने सीएम को मौके पर बुलाने की मांग रखते हुए दाह संस्कार से इनकार कर दिया था। बता दें शनिवार शाम रेप पीड़िता का शव गांव पहुंचा था।

यूपी की योगी आदित्यनाथ सरकार ने मामले की फास्ट ट्रैक कोर्ट में सुनवाई का फैसला किया है। कानून व्यवस्था के मद्देनजर सीतापुर, हरदोई और लखनऊ से पुलिस फोर्स को उन्नाव बुलाया गया है। इसके अलावा दो प्लाटून पीएसी को भी मौके पर तैनात किया गया है।

रेप पीड़िता की बहन ने इससे पहले मीडिया से कहा, 'जब तक योगीजी यहां नहीं आते हैं मैं अपनी बहन का दाह संस्कार नहीं करूंगी। मैं योगीजी से व्यक्तिगत रूप से बात करना चाहती हूं। मैं चाहती हूं कि आरोपी फांसी के फंदे पर लटकाएं जाएं।'

योगी सरकार ने पीड़ित परिवार को 25 लाख रुपये के मुआवजे का चेक सौंपा था। इस बीच रेप विक्टिम की बहन ने सरकारी नौकरी की मांग की है। पीड़िता की बहन ने कहा, 'मैं मांग करती हूं कि मुझे सरकारी नौकरी मिलनी चाहिए।'

गौरतलब है गैंगरेप के दोषियों को सजा दिलाने के लिए संघर्ष कर रही उन्नाव की बेटी को गुरुवार सुबह जिंदा जलाने की कोशिश की गई थी। बाद में इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई।

पुलिस चाहती थी कि रात में ही अंतिम संस्कार हो जाए लेकिन परिवार के लोग नहीं माने। उन्नाव के जिला प्रशासन ने परिवार से बातचीत के बाद रविवार सुबह पीड़िता के शव का अंतिम संस्कार का फैसला किया था।

मनीष श्रीवास्तव रायबरेली सवांददाता