ALL उत्तरप्रदेश विदेश राष्ट्रीय शिक्षा खेल धर्म-अध्यात्म मनोरंजन संपादकीय epaper
कौशाम्बी जनपद में  पहला कॅरोना पॉजिटिव मरीज,मिलने से मचा हड़कंप,प्रशासन भी हुआ सख्त
April 6, 2020 • Tariq • उत्तरप्रदेश

 

कौशाम्बी जनपद में  पहला कॅरोना पॉजिटिव मरीज,मिलने से मचा हड़कंप,प्रशासन भी हुआ शख्त
👉कौशाम्बी दुनिया भर में कोरोना महामारी ने हड़कंप मचा रखा है किंतु अपना जनपद अभी तक इस महामारी से अछूता माना जा रहा था किंतु रविवार की रात बनारस सेंटर से आई रिपोर्ट को देख प्रशासन सहित पूरे जनपद वासियों में हड़कंप मच गया।जिला के मुखिया मनीष वर्मा ने फौरन सभी अधिकारियों को लॉक डॉउन व क्वॉरेंटाइन के नियमों का कड़ाई से पालन करने के निर्देशित किया वहीं कोरोना के पॉजिटिव आए मरीज के गांव की सीमा को पूरी तरह शील कर पूरे गांव के लोगों का चिकित्सक परीक्षण करने हेतु निर्देशित किया है।
कड़ा धाम कोतवाली क्षेत्र के रामपुर बढ़नावा का मजरा मलाक  पचम्भा गांव निवासी नरेंद्र सिंह पटेल पुत्र विजय सिंह पटेल राजस्थान के जोधपुर शहर में रह कर अपना व अपने परिवार की जीविका चलाने के लिए एक प्राईवेट कंपनी में नौकरी करता था।22 वर्षीय नरेंद्र 29 अप्रैल को जोधपुर से अपने गांव आया था जिसको स्थानीय प्रशासन ने गांव के ही परिषदीय विद्यालय में बने क्वॉरेंटाइन सेंटर में रख दिया था।इस स्कूल में नरेंद्र के अलावा बाहर से आए 8 और लोगों को भी क्वॉरेंटाइन किया गया था। किन्तु चार दिन बाद नरेन्द्र की तबीयत अचानक बिगड़ गई और नरेंद्र को तेज बुखार व हल्की खाशी आने लगी।नरेंद्र की तबीयत बिगड़ने की सूचना ग्राम प्रधान राम नरेश पटेल ने प्रशासन दिया।सूचना पाते ही प्रशासन ने 3 अप्रैल को नरेंद्र को जिला अस्पताल में भर्ती करा दिया और नरेंद्र का सैंपल लेकर बनारस के जांच सेंटर भेज दिया।रविवार की रात नरेंद्र की जांच रिपोर्ट आई और जिसका डर था वही हो गया नरेंद्र की कोरोना रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आ गई।जिसके बाद जनपद में हड़कंप मच गया।जिलाधिकारी के निर्देश पर उपजिलाधकारी सिराथू राजेश कुमार श्रीवास्तव व कड़ा धाम कोतवाल पूरे गांव को शील कर फायर ब्रिगेड की टीम लगा कर पूरे गांव को शेनेटाइज कराया और नरेंद्र के घर में रह रहे उसके लगभग 60 वर्षीय पिता विजय सिंह पटेल व माता सुतिया देवी को आइशोलेशन में रखा गया और उनके घर को भी पूरी तरह शील कर दिया गया है।वहीं क्षेत्र में लगातार कड़ा धाम कोतवाल राधेश्याम वर्मा मुनादी कर लोगों को अपने अपने घरों में रहने की हिदायत दिया। मलाक पचम्भा गांव के सभी रास्तों को पुलिस ने बैरियर लगा कर बंद कर दिया तथा उस गांव से बाहर न किसी को जाने की अनुमति है और न ही आने की पूरी तरह से गांव की सीमा को बंद कर दिया गया है। सोमवार को जिलाधिकारी मनीष कुमार वर्मा, पुलिस अधीक्षक अभिनंदन सिंह तथा मुख्य चिकित्सा अधिकारी भी गांव पहुंचे और गांव के परिषदीय विद्यालय में बनाए गए क्वॉरेंटाइन सेंटर का निरीक्षण किया तथा डॉक्टरों की कई टीमें लगाकर गांव के सभी नागरिकों का चिकित्सा परीक्षण करने का निर्देश दिया। इस मौके पर उप जिलाधिकारी सिराथू राजेश कुमार श्रीवास्तव, क्षेत्राधिकारी सिराथू रामवीर सिंह, कड़ा धाम कोतवाल राधेश्याम वर्मा तथा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र कड़ा अधीक्षक डॉ० नीरज सिंह मौजूद रहे।

मक्खन लाल कौशाम्बी सवांददाता