ALL उत्तरप्रदेश विदेश राष्ट्रीय शिक्षा खेल धर्म-अध्यात्म मनोरंजन संपादकीय epaper
कोरोना से जंग जीतने वाले दीपक अपने पड़ोसियों के बुरे व्‍यवहार से आहत, मजबूर होकर पोस्टर लगाया मेरा घर बिकाऊ
April 13, 2020 • Tariq • राष्ट्रीय

-दीपक जब पूरी तरह स्‍वस्‍थ होकर अपने घर लौट आए तो पड़ोसी ओर नजदीकी उनके साथ बुरा बर्ताव करने लगे..

-कोरोना के संक्रमण से ठीक होकर लौटे कई मरीज़ों का लोग तालियों से स्वागत कर रहे तो कहीं फूल बरसाए जा रहे लेकिन कहीं-कहीं पूरेे परिवार को सामाजिक बहिष्कार का सामना भी करना पड़ रहा..

लखनऊमध्यप्रदेश 13 अप्रैल 2020, 'मेरा घर बिकाऊ है', ये पोस्टर मध्यप्रदेश के शिवपुरी ज़िले में कोरोना से संक्रमित पहले मरीज़ दीपक शर्मा के घर के बाहर लगा हुआ है, दीपक को मजबूरी में ये पोस्‍टर लगाना पड़ा है, दीपक कोरोना वायरस के संक्रमण से पूरी तरह ठीक हो चुके हैं और स्वस्थ होकर घर लौटे है, कोरोना के संक्रमण से ठीक होकर लौटे कई मरीज़ों का लोग तालियों से स्वागत कर रहे हैं, कहीं उनके लिये फूल बरसाए जा रहे हैं लेकिन कहीं-कहीं पूरा परिवार को सामाजिक बहिष्कार का सामना भी करना पड़ रहा है, शिवपुरी जिले में कोरोना से संक्रमित के पहले मरीज दीपक शर्मा अपने मनोबल के दम पर कोरोना से लड़ाई तो जीत गए लेकिन अपने पड़ोसियों ओर नजदीकियों के के बुरे बर्ताव के सामने उनका मनोबल टूट चुका है और अब वो अपने परिवार के साथ अपना घर बेचकर कहीं और बसना चाहते हैं, यही नहीं दीपक शर्मा ने अपने पड़ोसियों के दुर्व्यहार के चलते घर पर बोर्ड भी लगा दिया है कि ये मकान बिकाऊ है, जब इस मामले पर मीडिया ने दीपक के घर पहुंचकर बात की तो उन्‍होंने कहा कि वो अपने मनोबल के चलते कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई जीतने में सफल रहे और अब पूरी तरह स्‍वस्‍थ हैं, कोरोना के खिलाफ इस संघर्ष में उनका मनोबल जिला प्रशासन, डॉक्‍टर्स, नर्स, मीडिया ने लगातार फोन करके उनका मनोबल बढ़ाया।

-दीपक जब पूरी तरह स्‍वस्‍थ होकर अपने घर लौट आए तो पड़ोसी ओर नजदीकी उनके साथ बुरा बर्ताव करने लगे..

लेकिन अब जब वो पूरी तरह स्‍वस्‍थ होकर शिवकालोनी स्थित अपने घर लौट आए है तो पड़ोसी ओर नजदीकी उनके साथ बुरा बर्ताव कर रहे हैं, दीपक इस व्‍यवहार से बुरी तरह आहत हैं, उन्‍होंने कहा कि बीमारी किसी को भी हो सकती है लेकिन हमें बुरा बर्ताव नहीं करना चाहिए, वहीं दीपक के पिता का कहना है कि उनके पड़ोसी उनके घर न तो सब्जी और न ही दूध वाले को आने दे रहे हैं,  यही नहीं रात में कुछ लोग उनके घर का दरवाजा पीट पीटकर गाली-गलौज कर उन्हें घर खाली कर जाने के लिए मजबूर कर रहे हैं, इस मामले में मोहल्ले के कुछ लोगों से बात करने की कोशिश की गइ लेकिन उन्होंने कैमरे पर बात करने से मना कर दिया।

रिपोर्ट @ आफाक अहमद मंसूरी