ALL उत्तरप्रदेश विदेश राष्ट्रीय शिक्षा खेल धर्म-अध्यात्म मनोरंजन संपादकीय epaper
कोरोना वायरस के चलते लखनऊ में लॉकडाउन का उल्‍लंघन करने वाले 56 लोगों पर एफआईआर
March 23, 2020 • Tariq • उत्तरप्रदेश

कोरोना वायरस के चलते लखनऊ में लॉकडाउन का उल्‍लंघन करने वाले 56 लोगों पर एफआईआर

आरोपितों ने जानकारी के बावजूद लोक सेवक के आदेशों का पालन नहीं किया, जिससे उन पर ये संकट आया

लखनऊ, 23 मार्च 2020,  लॉक डाउन का उल्‍लंघन करने वाले 56 लोगों के खिलाफ पुलिस ने सोमवार देर शाम मुकदमा दर्ज  किया। सभी पर मुख्‍य सचिव उत्‍तर प्रदेश शासन के आदेशों का उल्‍लंघन करने का आरोप है। एसीपी कष्‍णानगर दीपक कुमार सिंह के मुताबिक सरोजनीनगर थाने में छह, बंथरा में पांच और कष्‍णानगर में कुल नौ मुकदमे दर्ज  किए गए हैं।
आरोपितों ने जानकारी के बावजूद लोक सेवक के आदेशों का पालन नहीं किया, जिससे मानव जीवन पर संकट आया। धारा 188 के तहत हुई एफआइआर में छह माह की सजा अथवा एक हजार रुपये के जुर्माने की सजा का प्रावधान है। नियम के तहत आरोपितों का इरादा कानून के उल्‍लंघन का हो ये जरूरी नहींं। बस, इतना ही पर्याप्‍त हैै कि आरोपितों ने आदेश का पालन नहीं किया। पुलिस रोकती रही लोग निकलते रहे, जनता कर्फ्यू  के बाद प्रधानमंत्री व मुख्यमंत्री ने 25 मार्च तक लाॅक डाउन की घोषणा की थी। लेकिन लाॅक डाउन होनें के बाद भी लोग घरों से बाहर दो पहिया व चार पहिया के साथ साथ पैदल टहलते नजर आए। पुलिस लोगों को घर वापस जाने की सलाह देते रहे।

राजाजीपुरम एमआईएस चैराहा व पाल तिराहा पर तालकटोरा पुलिस मुस्तैदी से तैनात रही और सड़क पर निकल रहे लोगों को घर पर रहने की सलाह देते रहे। तो वहीं सवारी ले जा रहे रिक्शा चालकों और ई रिक्शा चालको को रोककर फटकार भी लगाई। कई वाहनों चालको के फोटो खीचकर ई चालान व मैनअल चालान भी किया। लेकिन चालान व पुलिस की शक्ति बरतने के बावजूद भी लोग सड़कों पर टहलते नजर आए।

जान जोखिम में डालकर बस पर बैठी सवारियां पारा के बुद्धेश्वर फ्लाई ओवर ब्रिज के पास दो बसे अन्दर की सीटों व छतों से सवारियों से खचाखच भरी नजर आई। लेकिन पारा पुलिस की नजरें इन बसों की ओर नहीं पहॅुची। यह बसे झांसी से मोहान रोड होते हुए फैजाबाद गोंडा जाने के लिए निकली थी। जो रास्ता भटक कर बुद्धेश्वर फ्लाई ओवर ब्रिज के पास पहॅुच गई और बस की सवारियां और चालक आलमबाग जाने का रास्ता लोगों से पूछते नजर आए। 

रिपोर्ट @ आफाक अहमद मंसूरी