ALL उत्तरप्रदेश विदेश राष्ट्रीय शिक्षा खेल धर्म-अध्यात्म मनोरंजन संपादकीय epaper
लखनऊ के कैसरबाग और मछली माहोल के हर घर में होगी बुखार की जांच, इलाका सील
May 7, 2020 • Team janadhikar • उत्तरप्रदेश

-कैसरबाग और मछली मोहाल को पूरी तरह से सील कर दिया गया, बेवजह घर से बाहर निकलने पर पाबंदी लगा दी गई.. 

जिन लोगों में कोरोना के लक्षण नजर आ रहे या फिर मरीज के सीधे संपर्क में रहें, उन्हें क्वॉरंटीन में भेजा जा रहा, 14 दिन क्वॉरंटीन में गुजारना होगा

लखनऊ, 07 मई 2020, कैसरबाग, मछली मोहाल में भी कोरोना के खिलाफ अभियान चलाया जाएगा। इसकी शुरुआत गुरुवार से कर दी गई। घर-घर स्क्रीनिंग का अभियान चालू किया गया। इसमें बुखार, सर्दी-जुकाम समेत दूसरे लक्षणों की जांच की गई। कैसरबाग व मछली मोहाल में अब तक 14 से ज्यादा लोगों में कोरोना वायरस की पुष्टि हो चुकी है। गुरुवार को इलाका सील कर दिया गया है। साथ ही घर-घर जुकाम, बुखार के मरीजों की खोज शुरू कर दी गई है। इस दौरान 13 हजार से अधिक लोगों की इंफ्रारेड थर्मल मशीन से स्क्रीनिंग की गई। स्वास्थ्य विभाग, नगर निगम व पुलिस की टीम गुरुवार को इलाके का भ्रमण किया। घनी आबादी से संक्रमण के भयावह होने का खतरा है। लिहाजा पूरा इलाका सील कर दिया गया है। संक्रमण पर काबू पाने के लिए स्वास्थ्य विभाग, नगर निमग व पुलिस ने अभियान छेड़ दिया है। 
सीएमओ डॉ. नरेंद्र अग्रवाल के मुताबिक सभी घरों में स्क्रीनिंग की जाएगी, 3,101 घरों में रहने वाले 13,812 लोगों की जांच की गई। कोरोना से संबंधित लक्षण पूछे गए। उन्होंने बताया कि कोरोना की आशंका में कुछ लोगों के नमूने लिए गए हैं। जिन लोगों में कोरोना के लक्षण नजर आ रहे हैं या फिर मरीज के सीधे संपर्क में उन्हें क्वॉरंटीन में भेजा जा रहा है, 14 दिन क्वॉरंटीन में गुजारना होगा। पूरा इलाका सील कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए कैसरबाग और मछली मोहाल को पूरी तरह से सील कर दिया गया है। बेवजह घर से बाहर निकलने पर पाबंदी लगा दी गई है। सभी से घरों में रहने की अपील की जा रही है। जरूरी सामान लोगों तक पहुंचाया जा रहा है। केजीएमयू में 25000 जांचें केजीएमयू में 24 घंटे कोरोना की जांच हो रही है। प्रवक्ता डॉ. सुधीर सिंह ने बताया कि अब तक 25 हजार से ज्यादा नमूनों की जांच की जा चुकी है। डॉक्टर, टेक्नीशियन व सांइटिस्ट जांच में लगे हैं। प्रदेश के कई जिलों से नमूने जांच के लिए आ रहे हैं। उधर, स्वास्थ्य विभाग के अफसरों का कहना है कि अधिक से अधिक लोगों की जांच के लिए प्रयोगशाला में व्यवस्था की जा रही है। प्रदेश के 11 और सेंटरों में जल्द ही कोरोना जांच की सुविधा शुरू होगी। इसकी प्रक्रिया तेज कर दी गई है।

रिपोर्ट @ आफाक अहमद मंसूरी