ALL उत्तरप्रदेश विदेश राष्ट्रीय शिक्षा खेल धर्म-अध्यात्म मनोरंजन संपादकीय epaper
लखनऊ नगर निगम कर्मचारी संयुक्त मोर्चा द्वारा पूर्व घोषित आन्दोलन
December 11, 2019 • Tariq • उत्तरप्रदेश


11 दिसम्बर, 2019 लखनऊ। लखनऊ नगर निगम कर्मचारी संयुक्त
मोर्चा द्वारा पूर्व घोषित आन्दोलन के क्रम में आज दिनांक
11-12-2019 को समय सुबह 10 बजे से सायंकाल 05 बजे तक
मुख्यालय लालबाग नगर निगम लखनऊ पर उत्तर प्रदेश सरकार,
उत्तर प्रदेश शासन एवं नगर निगम प्रशासन स्तर पर अनेकों लंबित
मांगों पर ध्यानाकर्षण कराये जाने हेतु श्री चन्द्र प्रकाश अग्निहोत्री की
अध्यक्षता में सैकड़ों कर्मचारियों की उपस्थिति में एक दिवसीय
सांकेतिक धरना देकर सभा की। लखनऊ नगर निगम कर्मचारी
संयुक्त मोर्चा के शमील एखलाक एवं दीपक शर्मा मीडिया प्रभारी
द्वारा बताया गया कि दिनांक 21-11-2019 को नगर निगम लखनऊ
के कर्मचारियों की लम्बित मांगों के निराकरण के सम्बन्ध में माननीय
महापौर एवं नगर आयुक्त नगर निगम लखनऊ को मांग-पत्र सैकड़ों
कर्मचारियों की उपस्थिति में दिया गया था। परन्तु अब तक किसी भी
बिन्दु पर सकारात्मक निर्णय न लिये जाने के कारण कर्मचारियों में
व्यापक रोष व्याप्त है। आज की सभा के माध्यम से नगर निगम लखनऊ के
कर्मचारियों की लम्बित मांगें जैसे- लम्बित देयों का भुगतान, चतुर्थ
श्रेणी से द्वितीय श्रेणी में पदोन्नति, आय के साथ-साथ व्यय की
समीक्षा किया जाना, कार्यदायी श्रमिकों के शोषण पर रोक लगाया
जाना, सातवें वेतनमान के अन्तर की धनराशि का भुगतान किया जाना,
भविष्य निधि का लेखा-जोखा पूर्ण किया जाना, प्रत्येक माह समय से
वेतन पेंशन एवं पारिश्रमिक का भुगतान किया जाना, विनियमितीकरण
किया जाना जैसी महत्वपूर्ण मांगों पर कर्मचारी हित में अब तक निर्णय
न किये जाने के कारण सभी वक्ताओं ने एक स्वर से कर्मचारियों की
मांगों के प्रति दोहरी नीति अपनाये जाने पर उत्तर प्रदेश सरकार,
उत्तर प्रदेश शासन एवं निगम प्रशासन की घोर निन्दा की है। नगर
आयुक्त द्वारा दोपहर 2ः15 बजे मोर्चे की बैठक बुलाई गई, जिसमें
मुख्य मांगों पर सहमति की गई जैसे चतुर्थ श्रेणी से द्वितीय श्रेणी में
पदोन्नति हेतु 7 जनवरी 2020 को प्रक्रिया प्रारम्भ की जायेगी। प्रत्येक
माह के तीसरे बुधवार को पेंशन अदालत प्रातः 11ः00 बजे लगाई
जायेगी। सातवें वेतनमान के अन्तर के भुगतान का प्रशासनिक आदेश
किया, कार्यदायी संस्था को दो माह का वेतन भुगतान, कार्यदायी
संस्था के कर्मचारियों को ई0पी0एफ0 एवं ई0एस0आई0 की परिधि में
लाकर पासबुक उपलब्ध कराया जाना, कार्यदायी संस्था के कर्मचारियों
को विभागीय कार्य करने पर दुर्घटना होने पर रू0 20,000/- तथा
मृत्यु की दशा में रू0 50,000/- मात्र के भुगतान का प्रस्ताव सदन
के समक्ष रखा जायेगा। नगर आयुक्त द्वारा उपरोक्त बिन्दु पर निर्णय
एवं अन्य बिन्दुओं पर आश्वासन दिये जाने पर, मोर्चे द्वारा निर्णय लिया
गया है कि मांगों पर सहमति उपरान्त अनुपालन नहीं किया जाता है
तो मोर्चा 15 दिन उपरान्त पुनः मांगों की पूर्ति कराये जाने हेतु
आन्दोलन के लिये बाध्य होगा, जिसकी सम्पूर्ण जिम्मेदारी उ0प्र0
सरकार, उ0प्र0 शासन एवं निगम प्रशासन की होगी।
आज की सभा में सर्वश्री चन्द्र प्रकाश अग्निहोत्री, किशन चन्द्र
उपाध्याय, बाबू मुकेश शाक्य, अशोक गोयल, महमूद अहमद, राजेश
भारती, श्याम बिहारी शुक्ला, शैलेश सिंह, राजेश सिंह, आनन्द वर्मा,
विकास कुमार गौड़, विमल कुमार पाण्डेय, अरुण कुमार अवस्थी, प्रदीप
वाजपेई, राम अचल, राकेश तिवारी, रमेश चैरसिया, उमेश चन्द्र यादव,
अमरनाथ, मंसूर अली, जावेद अहमद, ओम प्रकाश उप्रेती, एहरार
अहमद, रामचन्दर यादव, शम्भू नाथ मिश्रा, मोहम्मद शुऐब, मोहम्मद
रेहान, हिमांशु सावन्त, अर्जुन यादव, विजय लक्ष्मी, रेखा यादव, हेमंत
कुमार, मिर्जा इरशाद बेग, राजीव रतन राय, कृष्ण मगन सिंह, राजीव
जैन, शत्रोहन लाल, अनुज गुप्ता, राजीव कुमार, जाकिर अली, सुखदेव
प्रसाद, मोहम्मद शमशाद, मनीष चन्द्र पाल, मंगल सिंह, राजकुमार,
अमित शुक्ला, सुमित कुमार, सूर्यभान सिंह, बीना गुप्ता, अरुण कुमार
सिंह, सिद्धार्थ नैथानी, ओमप्रकाश राजभर, सर्वेश पाल तथा सैकड़ों
कर्मचारी उपस्थिति हुए।


(शमील एखलाक)         (दीपक शर्मा)
मीडिया प्रभारी            मीडिया प्रभारी

 

इक़बाल अहमद लखनऊ सवांददाता