ALL उत्तरप्रदेश विदेश राष्ट्रीय शिक्षा खेल धर्म-अध्यात्म मनोरंजन संपादकीय epaper
लॉकडाउन के बीच उत्तर प्रदेश में अगले आदेश तक पान मसाले के उत्पादन, वितरण और बिक्री पर प्रतिबंध
March 25, 2020 • Tariq • उत्तरप्रदेश

लॉकडाउन के बीच उत्तर प्रदेश में अगले आदेश तक पान मसाले के उत्पादन, वितरण और बिक्री पर प्रतिबंध

कोरोना वायरस का संक्रमण लार व थूक से भी होता है..

लखनऊ, 25 मार्च 2020, कोरोना वायरस के संक्रमण से निपटने के लिए विभिन्न व्यवस्थाएं कर रही उत्तर प्रदेश की योगी सरकार अब सूबे में पान, पान-मसाला और गुटखा के निर्माण और बिक्री को प्रतिबंधित कर दिया है।
उत्तर प्रदेश सरकार ने पूरे राज्य में पान मसाला पर प्रतिबंध लगा दिया है। राज्य सरकार ने यूपी में पान मसाला के उत्पादन, वितरण और बिक्री पर अगले आदेश तक रोक लगा दी है।
उत्तर प्रदेश में पान मसाला की बिक्री पर पूरी तरह से प्रतिबंध लगा दिया गया है। प्रदेश सरकार ने कहा है कि अगले आदेश तक राज्य में पान मसाला की बिक्री, उत्पादन और वितरण को बैन कर दिया गया है। इससे पहले उत्तर प्रदेश के अपर मुख्य सचिव गृह व सूचना अवनीश कुमार अवस्थी ने मंगलवार को कहा था कि कोरोना वायरस का संक्रमण लार व थूक से भी होता है। इस वजह से सरकार पान मसाला और गुटखा को पूरी तरह से प्रतिबंधित करने पर विचार कर रही है। इसके बाद से यह उम्मीद लगाई जा रही थी कि जल्द ही सरकार पान मसाला पर प्रतिबंध को लेकर ऐलान करेगी।
अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश कुमार अवस्थी ने कहा कि बाजारों, सड़कों, दफ्तरों व घरों तक में लोग कोनों-कोनों में पान, पान-मसाला और गुटखा खाकर थूंकते हैं। थूंकने से गंदगी व संक्रमण फैलता है। थूंक का रोग को लेकर अब गहन विचार करने की जरूरत है। केवल महामारी के समय ही नहीं, बल्कि सामान्य समय में भी जगह-जगह थूंककर संक्रमण फैलाने की समस्या का स्थायी निदान तलाशना होगा। इसके दृष्टिगत ही प्रदेश में पान, पान-मसाला व गुटखा पर पूरी तरह प्रतिबंध लगाने का फैसला लिया गया है। उत्तर प्रदेश के कई शहरों में पान मसाला का बड़े पैमाने पर उत्पादन होता है। इनमें कानपुर और नोएडा प्रमुख हैं। 

रिपोर्ट @ आफाक अहमद मंसूरी