ALL उत्तरप्रदेश विदेश राष्ट्रीय शिक्षा खेल धर्म-अध्यात्म मनोरंजन संपादकीय epaper
लॉकडाउन के चलते ईद-उल-फितर का त्योहार सोशल डिस्टेंसिंग के साथ मनाया गया, घरों में पढ़ी नमाज
May 26, 2020 • Team janadhikar • उत्तरप्रदेश

अन्तर्राष्ट्रीय जनाधिकार परिषद के प्रदेश अध्यक्ष तबरेज वारसी ने ईद का त्योहार लॉक डाउन के चलते सोशल डिस्टेंसिंग के साथ सादगी से मनाया..

ताकि ईद की सेवईं से मेहरूम न रहें गरीब परिवार, जरूरतमंदों की मदद कर मिली तसल्ली-तबरेज वारसी..

संगठन द्वारा सख्त आदेश किसी भी जरूरतमंद की मदद करते समय उनकी फोटो न खींचे ताकि मान सम्मान को ठेस न पहुंचे..

लखनऊ–उत्तर प्रदेेश-फतेहपुर, 26 मई 2020, भाईचारे का त्योहार ईद इस बार सादगी के साथ मनाया गया। लॉकडाउन की वजह से मस्जिदों और ईदगाहों में बड़ी जमात के साथ नमाज अदा नहीं हो सकी। अकीदतमंदों ने शारीरिक दूरी बनाकर अपने-अपने घरों में ईद की नमाज पढ़ी, जबकि मस्जिदों में चार से पांच लोगों ने नमाज अदा करते हुए घर-परिवार और समाज के साथ ही देश में अमन और चैन की दुआ मांगी। कोरोना वायरस के संक्रमण को समाप्त करने के लिए विशेष दुआ की गई। ईद की नमाज को सादगी के साथ अदा करते हुए लोगों ने एक-दूसरे को मुबारकबाद दी। अन्तर्राष्ट्रीय जनाधिकार परिषद के प्रदेश अध्यक्ष तबरेज वारसी उर्फ टिल्लू ने सोमवार की सुबह एक-दूसरे को बधाई दी। इस दौरान देश की सलामती और कोरोना वायरस जैसी महामारी से निजात की दुआ की।

बुराइयों को दूर करता है रोजा..

संगठन के प्रदेश अध्यक्ष तबरेज वारसी उर्फ टुल्लू ने कहा कि रोजा रखने से इंसान को सब्र व धीरज रखने का मलिका मिल जाता है। साथ ही असहाय और गरीबों की भूख, प्यास का वो पूरा अहसास भी कर लेता है। जिसके द्वारा रोजा रखने वालों को दूसरों की मदद करने की प्रेरणा मिल जाती है। रोजा इंसान के दिलों में बुराइयों को निकालकर अच्छाइयां लाने का काम करता है। जब इंसान का हृदय स्वच्छ हो जाता है तो फिर वो नेक इंसान बन जाता है। और सबकी भलाई के लिए काम करता है।

-पुराने कपड़ों से चला काम..

तबरेज वारसी ने आगे बताया कि इस बार लॉकडाउन की वजह से कई लोगों ने पुराने कपड़ों के साथ ईद मनाई। ईद मिलन समारोह का भी आयोजन नहीं किया गया, मेले का नहीं हुआ आयोजन।

-सोशल मीडिया पर दी मुबारकबाद..

तबरेज वारसी ने अपनी बात को आगे जारी रखते हुए बताया लॉकडाउन की वजह से लोगों ने सोशल मीडिया के माध्यम से एक-दूसरे को ईद की मुबारकबाद दी। कई लोग घर नहीं लौट सके। इसके लिए वीडियो कॉल के माध्यम से स्वजनों व दोस्तों को बधाई दी। आमने-सामने की मुबारकबाद में शारीरिक दूरी का पालन किया गया। फतेहपुर में सुरक्षा के सख्त इंतजाम ईद को लेकर शहर में पुलिस कर्मी लगातार गश्त लगाते रहे। मस्जिदों व ईदगाहों के पास विशेष चौकसी बरती गई। मस्जिदों के बाहर पुलिस तैनात रही। प्रशासन व उलेमाओं की अपील का माकूल असर ईद के त्योहार पर दिखा। लजीज व्यंजनों का लिया आनंद घरों पर गृहणियों ने परिवार के सदस्यों व अतिथि के लिए रात भर जाग कर विभिन्न प्रकार के सेवइयां बनाई। दहीबड़ा, छोले-भटोरे, कई तरह का हलवा आदि व्यंजन भी थाली में परोसे गए। बच्चों की मांग पर पकवान बनाने में महिलाएं व्यस्त रहीं।

-ताकि ईद की सेवईं से मेहरूम न रहें गरीब परिवार, जरूरतमंदों की मदद कर मिली तसल्ली-तबरेज वारसी..

अन्तर्राष्ट्रीय जनाधिकार परिषद के प्रदेश अध्यक्ष तबरेज वारसी उर्फ टिल्लू ने कहा कि इस बार नया कपड़ा नहीं खरीदा। इस पैसे से जरूरतमंदों की मदद की गई। इससे दिल में तसल्ली मिली। उन्होंने कहा कोरोना संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए लॉकडाउन के कारण लोगों से सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने की अपील की गई थी। ईद पर हमें समाज के जरूरतमंद लोगों का दर्द बांटने और उनके साथ खुशियां साझा करने की प्रेरणा मिलती है।

-संगठन द्वारा सख्त आदेश किसी भी जरूरतमंद की मदद करते समय उनकी फोटो न खींचे ताकि मान सम्मान को ठेस न पहुंचे..

साथ ही ये भी बताया कि किसी जरूरत मंद लोगों की मदद करते समय गरीब लोगों के मान सम्मान को ठेस न पहुंचे इसके लिए हमारी टीम द्वारा सख्त हिदायत दी गई है कि मदद करते समय किसी का भी फोटो खींचने के लिए मना किया गया है टीम का कोई भी व्यक्ति यदि ऐसा करता है तो उसके खिलाफ संगठन कार्यवाही करेगा। कोरोना वायरस के कारण ईद की नमाज पारंपरिक तौर पर अता नहीं की जा सकी लेकिन लोगों को समझना चाहिए कि केवल सावधानी बरतने से ही वायरस को हराया जा सकता है। अन्तर्राष्ट्रीय जनाधिकार परिषद के प्रदेश अध्यक्ष तबरेज वारसी उर्फ टिल्लू व संगठन की पूरी टीम ने अलग-अगल स्थानों पर जरूरतमंदों को बांटा राशन, लॉकडाउन में लोग घर में रहकर वैश्विक महामारी से जंग लड़ रहे हैं। खासतौर पर दिहाड़ी मजदूर, रिक्शा, ठेला लगाने वाले लोग हैं, जो राशन के लिए मोहताज हैं। सामाजिक संस्थाएं उनकी मदद कर रहीं हैं। प्रवासी मजदूर और जरूरतमंद लोगों के बच्चे ईद की सेवइयों से मेहरूम न रहे। इसके लिए संगठन ने गरीबों को राशन देने के साथ सेवईं, शक्कर और मावा का वितरण किया गया इसके अलावा संस्था ने ईदी के साथ बच्चों को चॉकलेट दिया। संगठन के अध्यक्ष तबरेज वारसी ने बताया कि हमारा मकसद जरूरतमंदों की मदद करना है, इस मौके पर आस-पास बस्तियों में रहने वाले गरीब परिवारों को आटा, चावल व रोजमर्रा का समान मुहैया कराया। वहीं प्रवासी मजदूरों को लंच पैकेट, बिस्किट, पानी, फल, सैनिटाइजर और मास्क वितरित किया। जरूरतमंद परिवारों को सेवईं, चीनी व मेवा सहित शगुन की अन्य खाद्य सामग्री वितरित की। जरूरतमंदों परिवारों राशन, दूध व रोजमर्रा की सामग्री वितरित की। राशन समेत सेवईं व जरूरी पकवान बांटे, अन्तर्राष्ट्रीय जनाधिकार परिषद के प्रदेश अध्यक्ष तबरेज वारसी उर्फ टिल्लू व उनकी टीम गरीबों की मदद कर रही है।

रिपोर्ट @ आफाक अहमद मंसूरी