ALL उत्तरप्रदेश विदेश राष्ट्रीय शिक्षा खेल धर्म-अध्यात्म मनोरंजन संपादकीय epaper
लॉकडाउन की धज्जियां उड़ाते हुए निकाला गया थाना प्रभारी का विदाई जुलूस, वीडियो वायरल, निलंबित
June 4, 2020 • टीम जनाधिकार • उत्तरप्रदेश

-जुलूस में शामिल एसओ समेत ज्यादातर पुलिसकर्मियों ने सड़क पर निकलने के बावजूद मॉस्क नहीं पहन रखा था, निजी गाड़ियां भी जुलूस में शामिल की गईं–

-दूसरे थाने में ड्यूटी ज्वाइन करने जा रहे एसओ का विभिन्न मार्गों पर बीच सड़क पर फूल मालाओं से लादकर गर्मजोशी से हुए स्वागत ने सोशल डिस्टेंसिंग की खूब धज्जियां उड़ायी गईं–

-इलाकाई लोगों में एसओ की विदाई को लेकर चर्चा, मानों दारोगा ने लोकसभा या विधानसभा का चुनाव जीत लिया हो–

लखनऊ–उत्तर प्रदेश, अम्बेडकर नगर, 04 जून 2020, यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ हर रोज लॉकडाउन की समीक्षा बैठक में आदेश देते हैं कि लॉकडाउन के नियमों का सख्ती से पालन करवाया जाए। सोशल डिस्टेंसिंग का पालन किया जाए लेकिन लगता है कि पुलिसकर्मी ही उनके निर्देशों को कोई तवज्जो नहीं देते हैं। अंबेडकरनगर जिले में भाजपा विधायक संजू देवी की शिकायत पर बसखारी थाने से हटाए गए थाना प्रभारी मनोज सिंह को विदाई देने के लिए लॉकडाउन के नियमों की धज्जियां उड़ाते हुए जुलूस निकाला गया। जिसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया। जिसके बाद कार्रवाई करते हुए थाना प्रभारी को निलंबित कर दिया गया।

एसओ की विदाई में निकला जुलूस, सोशल डिस्टेंसिंग की उड़ीं धज्जियां.. 

देश में जारी कोरोना महामारी और लॉकडाउन लागू होने के बाावजूद बसखारी थानाध्यक्ष मनोज कुमार सिंह की विदाई के दौरान बसखारी थाने में करीब डेढ़ सौ से लेकर दो सौ लोगों की भीड़ जुटी। इतना ही नहीं सारे नियम कानून को ताक पर रखकर जुलूस भी निकाला गया। दूसरे थाने में ड्यूटी ज्वाइन करने जा रहे एसओ का विभिन्न मार्गों पर बीच सड़क पर फूल मालाओं से लादकर गर्मजोशी से हुए स्वागत ने सोशल डिस्टेंसिंग का भी काफी धज्जियां उड़ायी गईं। बसखारी थाने में हुई विदाई के दौरान जमे डेढ़ से लेकर दो सौ लोगों में से अधिकांश ने अपने चेहरे पर मास्क नहीं लगाए थे। खुद एसओ मनोज कुमार सिंह व कई एसआई व अन्य पुलिस कर्मियों ने मास्क नहीं लगाया था। इतना ही नहीं थाने में हुई विदाई के बाद एसओ के रवानगी के समय कई प्रमुख मार्गों पर जुलूस निकाला गया।

इलाकाई लोगों में एसओ की विदाई को लेकर चर्चा, मानों दारोगा ने लोकसभा या विधानसभा का चुनाव जीत लिया हो..

जुलूस के काफिले के आगे कई प्राइवेट मोटर साइकिल, थाने की सरकारी बाइक, थाने के सभी चार पहिया वाहन व कुछ निजी वाहन भी शामिल थे। इलाकाई लोगों में एसओ की विदाई को लेकर इस तरह चर्चा है कि मानों दारोगा ने लोकसभा या विधानसभा का चुनाव जीत लिया हो। पिछले दिनों ही बसखारी पुलिस के रवैये से नाराज टांडा विधायक संजू ने थाने पहुंचकर लगभग धरने जैसा माहौल कायम कर दिया था। वे थाने पर कई घण्टे तक डटी रहीं थीं। इस पर कुछ सिपाहियों और दरोगा को हटाया गया था। एक दिन पहले ही एसओ को भी हटाते हुए जैतपुर थाने की कमान दी गई थी। इसी के बाद बसखारी में विदाई के लिए न सिर्फ भीड़ जुटी बल्कि लॉकडाउन के प्रतिबंधों के बावजूद जुलूस निकला।

ज्यादातर पुलिसकर्मियों ने नहीं पहना था मास्क.. 

जुलूस में शामिल एसओ समेत ज्यादातर पुलिसकर्मियों ने सड़क पर निकलने के बावजूद मॉस्क नहीं पहन रखा था। निजी गाड़ियां भी जुलूस में शामिल की गईं और अनावश्यक ढंग से सायरन का प्रयोग किया जा रहा था। वायरल वीडियो में साफ दिख रहा कि जुलूस में शामिल पुलिस कर्मियों ने हेलमेट भी नहीं पहना है।

रिपोर्ट @ आफाक अहमद मंसूरी