ALL उत्तरप्रदेश विदेश राष्ट्रीय शिक्षा खेल धर्म-अध्यात्म मनोरंजन संपादकीय epaper
महराजगंज के मऊ शर्की गाँव में अवैध कार्यो का बोल- बाला
February 24, 2020 • Tariq • उत्तरप्रदेश

 

महराजगंज के मऊ शर्की गाँव में अवैध कार्यो का बोल- बाला


--------------------------------रायबरेली ।थाना कोतवाली महराजगंज अन्तर्गत मऊ शर्की गाँव में अवैध कार्यो का  बोल बाला है 
सूत्रो के हवाले से मिली जानकारी के अनुसार गाँव के कुछ तथाकथित दबंग गाँव से होकर निकलने वाली शारदा सहायक नहर से बालू का अवैध खनन करा कर बेचने, नहर में लगे फाटक पर जाल लगा कर मछली को पकड कर उसे बेचने के कार्यो में लिप्त है।
सूत्रो का कहना है कि नहर सूखी रहने पर तथा कथित दबंग नहर से सिल्ट( बालू ) का खनन करा के नहर के किनारे तथा अगल - बगल की जमीन पर उसे डम्प कर लेते है,जिसे धीरे-धीरे 1200और 1300 में एक ट्राली बेचते है। अवैध रूप से कार्य करने वाले लोग ट्रैक्टर टाली से बालू/सिल्ट को खरीदने वाले के स्थान तक बेखौफ पहुंचाने में लिप्त है। उन्हे न तो शासन का भय है और न प्रशासन का ।क्यो कि शारदा सहायक खण्ड 28 हैदरगढ  व खण्ड 45 रायबरेली के हल्का पतरोल (   सीचपाल ),अमीन  सहित जिलेदार का संरक्षण प्राप्त है जिन्हें वे एक बधी रकम दिया करते है। सूत्रो का  कहना है कि नहर में बने ठोकर और गेट पर ये दबंग इन्ही कर्मचारियों की मिली भगत से जाल लगा कर नहर से मछली निकालने का काम करते है तथा रात भर मछली पकने के बाद भोर होते ही उसे व्यापारियों के हाथों बेच दिया करते है।बताया जाता है कि ये दबंग एक दिन में एक कुंतल से दो कुतंल तक मछली बेचते है।
देखना है कि प्रशासन के उच्चाधिकारी कब इस तरफ ध्यान देते है तथा अबैध रूप से हो रहे इस कार्य को बन्द करा कर दोषियों पर क्या कार्यवाही करते है या फिर इस अवैध कार्य को करते रहने की तथाकथित दबंगो को छूट दिए रहते है।

रिपोर्ट@प्रिंस तिवारी