ALL उत्तरप्रदेश विदेश राष्ट्रीय शिक्षा खेल धर्म-अध्यात्म मनोरंजन संपादकीय epaper
मंत्री जी शाम को सारे नियम तोड़ते हुए पीड़ितों को आस्वाशन देने पहुंच गए
November 24, 2019 • Tariq • उत्तरप्रदेश

आगरा। ये है नजारा है छावनी विधानसभा क्षेत्र के सदर बाजार का, जहाँ कल दिनाँक 23/11/2019 को छावनी परिषद ने अभियान चलाकर 15 झुग्गी झोपड़ियों के साथ साथ वाल्मीकि समाज के तीन लोगों के घर को भी नुकसान पहुंचाया गया है।

मुझे इस विषय में ज्यादा जानकरी नहीं कि इन झुग्गियों को क्यूँ तोड़ा गया था क्योंकि जब शाम को मैं घटना स्थल पर पहुंचा तो वहाँ सिर्फ मलबा हटाया जा रहा था जिसकी वजह से ज्यादा जानकारी नहीं जुटा पाया। हो सकता है कि ये अवैध रूप से तैयार किए गए अस्थायी निवास स्थान हों लेकिन जिस तरह सर्दियों के मौसम में इस तरह से गरीबों के घरों को उजाड़ देना कहाँ का न्याय है?

इन सभी के बीच सूचना पर शाम को घटनास्थल पर राज्यमंत्री डॉ जीएस धर्मेश ( उत्तर प्रदेश सरकार ) का आना हुआ जहां वो अभियान में तोड़े गए मकाओं का दौरा कर रहे थे। मंत्री जी के आते ही सभी फरियादियों ने अपनी समस्याओं को उनके सामने रखा और ये प्रश्न किया कि अभियान में सिर्फ कुछ लोगों के मकान को ही क्यूँ निशाना बनाया गया है?

सड़क पर खड़े होकर सभी के सामने बात चल हो रही थीं कि किसी ने राज्यमंत्री जी से यह कहा दिया कि अंदर बैठकर बातचीत करते हैं क्योंकि सड़क पर जाम लग रहा है और भीड़ भी काफी हो गई है। मंत्री जी पीड़ित परिवार को लेकर अकेले में बातें करने लगे। अब वहाँ क्या बात हुईं, क्या नहीं ये हर किसी की समझ से दूर है क्योंकि मंत्री जी कुछ समय बाद पीड़ितों के साथ अकेले में ही बातें कर रहे थे।

क्या बच्चे क्या बूढ़े मकान ध्वस्तीकरण से सभी लोगों को बहुत बुरा आघात पहुँचा है। कल ही ज्यादातर लोगों ने इस जगह को छोड़ दिया है और स्थाई निवास स्थान की तलाश में अन्य जगह तलाशी जा रही है। ट्रक में सामान में लादते हुए नाराज ये लोग छावनी विधानसभा के उपाध्यक्ष और यहाँ के जनप्रतिनिधियों पर जनता का शोषण करने का आरोप लगा रहे थे।

नितिन शुक्ला आगरा सवांददाता