ALL उत्तरप्रदेश विदेश राष्ट्रीय शिक्षा खेल धर्म-अध्यात्म मनोरंजन संपादकीय epaper
पंक्चर लगाने वाले का बेटा इस पॉश इलाके से दूसरी बार बना MLA, पहले से भी ज्यादा मिले वोट
February 13, 2020 • Tariq • राष्ट्रीय

पंक्चर लगाने वाले का बेटा इस पॉश इलाके से दूसरी बार बना MLA, पहले से भी ज्यादा मिले वोट।

नई दिल्ली: दिल्ली विधानसभा चुनाव में जंगपुरा सीट से AAP के विजयी उम्मीदवार प्रवीण कुमार खासे चर्चा में है. चर्चा की वजह उनकी लगातार दूसरी जीत नहीं है बल्कि उनका संघर्ष भरा जीवन है.
प्रवीण भोपाल के रहने वाले हैं और बेहद साधारण परिवार से संबंध रखते हैं. उनके पिता की भोपाल में पंक्चर लगाने की दुकान है. एमबीए की पढ़ाई करने वाले प्रवीण दिल्ली में कुछ बनने का सपना लेकर आए थे।
लेकिन इस बीच भ्रष्टाचार के खिलाफ अन्ना आंदोलन शुरू हो गया और वह इसमें शामिल हो गए. यहीं से उनकी जिंदगी उस रास्ते पर चल पड़ी जिसने उन्हें विधायकी तक पहुंचा दिया।

प्रवीण के पिता भोपाल में पंक्चर लगाने का काम करते हैं आम आदमी पार्टी ने उन्हें 2015 में जंगपुरा सीट से उतारा. यह सीट कांग्रेस की गढ़ रही थी . 1993, 1998, 2003, 2008, 2013 के चुनाव में यहां से कांग्रेस ने जीत दर की थी. वहीं बीजेपी भी इस सीट पर काफी मेहनत कर रही थी और उसका वोट प्रतिशत लगातार बढ़ रहा था. ऐसे हालात में पहली बार चुनाव लड़ रहे प्रवीण कुमार का जीतना बेहद मुश्किल माना जा रहा था लेकिन चुनाव परिणाम ने सबको हैरान कर दिया. प्रवीण कुमार ने जीत हासिल की और उन्हें 48.11% वोट मिले.
2020 में प्रवीण की जीत का सिलसिला जारी रहा और उन्हें मिलने वाला वोट प्रतिश भी बढ़ गया. इस बार उन्हें 50.88% वोट मिले. प्रवीण अब विधायक बन गए लेकिन उनके पिता अपना काम नहीं छोड़ा है वह आज भी भोपाल में अपनी पंक्चर लगाने के दुकान चलाते हैं।

रिपोर्ट@त्रिलोकी नाथ