ALL उत्तरप्रदेश विदेश राष्ट्रीय शिक्षा खेल धर्म-अध्यात्म मनोरंजन संपादकीय epaper
सच फिर सूली पर चढ़ा रिहाई मंच के मुहम्मद शुऐब समेत 21 नामजद और सैकड़ों अज्ञात पर मुकदमे दर्ज
February 10, 2020 • Tariq • उत्तरप्रदेश

 

 

सच फिर सूली पर चढ़ा रिहाई मंच के मुहम्मद शुऐब समेत 21 नामजद और सैकड़ों अज्ञात पर मुकदमे दर्ज

एक बार फिर भारत की वीरांगनाओ ने तानाशाहों के होश उड़ा दिए

लखनऊ 10 फ़रवरी 2020  रिहाई मंच ने घण्टाघर कोआर्डिनेशन कमेटी के सदस्यों और रिहाई मंच अध्यक्ष मोहम्मद शुऐब समेत 21 लोगों पर नामजद और सैकड़ों अज्ञात पर मुकदमा दर्ज किये जाने को तनाशाहो की बौखलाहट करार दिया। मंच ने कहा कि पूरे देश ने कल 'लखनऊ चलो' के आह्वान के तहत उत्तर प्रदेश के अलग अलग शहरों में महिलाओं पर हुए पुलिसिया अत्याचार के विरुद्ध घण्टाघर धरना स्थल पर भारी संख्या में पहुँच कर शांतिपूर्वक  पुरजोर विरोध किया, इस विरोध को रोकने के लिए 8 फरवरी की रात सरकार ने रिहाई मंच अध्यक्ष मोहम्मद शुऐब, पूर्व आईजी एस आर दारापुरी, संदीप पाण्डेय और प्रो रूपरेखा वर्मा को सुबह नोटिस भेज कर धरने में न शामिल होने को कहा, गैरसंवैधानिक नागरिकता संशोधन कानून का विरोध करने वाले तीसरी बार मुकदमा दर्ज किये जाने पर रिहाई मंच अध्यक्ष मोहम्मद शुऐब ने कहा कि उत्तर प्रदेश सरकार पूरी तरह से तानाशाही पर उतर आई है इसी कारण पुलिस प्रशासन जनता की सुरक्षा करने के बजाय बेटियों पर फर्जी मुक़दमे दर्ज करने में व्यस्त है। ये वही सरकार है जो विधि छात्रा के शारीरिक शोषण के आरोपी चिन्मयानन्द पर से तो मुक़दमे हटाने की बात करती है लेकिन गैरसंवैधानिक नागरिकता संशोधन कानून और एन.आर.सी. का गांधीवादी तरीके से विरोध करने पर बेटियों पर फर्जी मुक़दमे दर्ज कर उन्हें डराने की कोशिश कर रही है। लेकिन देश की महिलाओं ने तय कर लिया है कि जब तक ये संविधान विरोधी कानून वापस नहीं लिया जाता तब तक 'न डरेंगे! न हटेंगे!'

रिपोर्ट @ आफाक अहमद मंसूरी