ALL उत्तरप्रदेश विदेश राष्ट्रीय शिक्षा खेल धर्म-अध्यात्म मनोरंजन संपादकीय epaper
सरकार द्वारा  पत्रकारों की योग्यता अनिवार्य करने का फाउंडेशन द्वारा किया गया स्वागत
February 24, 2020 • Tariq • उत्तरप्रदेश

सरकार द्वारा  पत्रकारों की योग्यता अनिवार्य करने का फाउंडेशन द्वारा किया गया स्वागत

*फाउंडेशन ने पत्रकारों को प्रतिमाह ₹10000 पत्रकार सुरक्षा भत्ता देने की जोरदार मांग* …॥

वाराणसी:- भारतीय मीडिया फाउंडेशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष ए के बिंदुसार ने सरकार द्वारा पत्रकारों के लिए शैक्षणिक योग्यता तय करने के सवाल पर सरकार को बधाई दिया है लेकिन उन्होंने यह भी कहा कि शैक्षणिक योग्यता तय करने के साथ-साथ पत्रकारों को प्रतिमाह ₹10000 पत्रकार को सुरक्षा भत्ता देने का भी अधिनियम लागू होना चाहिए।

जिससे पत्रकार एवं सामाजिक कार्यकर्ताओंक्षेत्र के जीवन को बेहतर बनाया जा सके उन्होंने कहा कि जब तक देश के पढ़े लिखे युवाओं को रोजगार नहीं मिलेगा तब तक देश से भ्रष्टाचार समाप्त नहीं होगा न हीं आतंकवाद समाप्त होगा। उन्होंने कहा कि पढ़े-लिखे नौजवान आज रोजगार की तलाश में सड़कों पर घूम रहे हैं सरकार अलुल जलूल नियम अधिनियम बनाने में लगी है लेकिन पढ़े लिखे युवाओं को रोजगार देने के लिए कोई भी ऐसा संशोधन बिल नहीं लाए हैं जो भारत जैसे विश्व के बड़े लोकतांत्रिक देश के लिए शर्म की बात है।

उन्होंने बताया कि भारत सरकार की पीआईबी सूचना एवं पत्र मंत्रालय जल्द ही एक सर्कुलर लागू करने वाली है जिससे लगभग देश के 35 % पत्रकार अयोग्य घोषित हो जाएंगे दरसल सूचना एवं पत्र मंत्रालय द्वारा पत्रकारों की शैक्षणिक योग्यता को लेकर एक सर्कुलर लागू करने जा रही है जिसमें कम से कम इंटरमीडिएट परीक्षा पास करने वाले पत्रकारों को ही पत्रकारों की श्रेणी में माना जाएगा बाकी सब हाकर की कैटेगरी में आएंगे और इसके लिए प्रत्येक पत्रकारिता से जुड़े संस्थान को लागू करना होगा कि वह 12 पास व्यक्ति को ही अपने संस्थान में स्ट्रिंगर रिपोर्टर एवं सरकुलेशन और ऑफिस कार्य हेतु रख सकेगा और उनका आई कार्ड जारी कर सकेगा इस कदम का भारतीय मीडिया फाउंडेशन समेत सभी पत्रकार संगठन ने स्वागत भी किया है ताकि देश में पत्रकारों की छवि सुधारी जा सके इसके साथ साथ पत्रकारिता करने वाले लोग खुलकर पत्रकारिता कर सकें और जिस तरह से आज तमाम साप्ताहिक समाचार पत्र से लेकर तमाम संस्थानों ने अयोग्य लोगों को आई कार्ड जारी कर पत्रकार घोषित करते जा रहे हैं इससे पत्रकारिता जगत को भारी समस्याओं का सामना भी करना पड़ रहा है ।

उन्होंने कहा कि देशभर के पत्रकार एवं सामाजिक कार्यकर्ताओं को एक मंच पर एकजुट करके पत्रकार एवं सामाजिक कार्यकर्ता बंधुओं के कल्याण के लिए सड़क से लेकर संसद तक जन आंदोलन की रणनीति बनाई जाएगी ॥

कलीम खान जहानाबाद सवांददाता