ALL उत्तरप्रदेश विदेश राष्ट्रीय शिक्षा खेल धर्म-अध्यात्म मनोरंजन संपादकीय epaper
सरकारी शौचालय न बनने देने पर खुले में शौच करने में मजबूर महिला
June 5, 2020 • टीम जनाधिकार • उत्तरप्रदेश

थाना थरियांव के क्षेत्र बिलन्दा फतेहपुर                       

सरकारी शौचालय न बनने देने पर खुले में शौच करने में मजबूर महिला

सरीफुन ने पुलिस महाअधिक्षक से लगाई इंसाफ की गुहार

सरीफुन बड़ी खुस थी कि खुले में शौच नही जाना पड़ेगा अपने घर के सामने शौचालय का गड्ढा हो गया तभी जन्नत व उसका परिवार देहली में रहता है जन्नत के घर की चावी मोहल्ले के हसीब के पास रहती है शौच के गड्ढा देखकर हसीब ने हल्के की पुलिस चौकी हस्वा में एप्लिकेशन दे दिया हल्के का सिपाही ने गड्डे का निर्माण रुक गया कहा कि जन्नत व उसका बेटा सरवर के साथ अपनी मोटरसाइकल नंबर DL3S DD 7938 से दिनांक 02/06/2020 को दिल्ली से बिलन्दा फतेहपुर समय 5 बजे शाम को आगए तकरीबन 1 घंटे बाद मा बेटे ने बिना कोरनटैन करे काफी लोगो के घर गए अथवा दिनांक 03/06/2020 समय 8 य 9 बजे के कि बीच मा बेटा व अन्य सत्यो सहित पुलिस चौकी हस्वा गए इंचार्ज प्रशांत कटियार ने घर वालो को भी बुलाया वहा पे कहा गया कि शाम 5 बजे मुआइना करने आयगे पहले विवादित जगह न जाकर भूत पूर्व प्रधान नदीम के घर गए इंचार्ज वहा पर जन्नत व सरवर और कई अन्य लोग की मीटिंग हुई फिर विवादित जगह जाकर एक तरफा फैसला किया शौचालय के गड्ढे को पुरा दिया चौकी इंचार्ज के संज्ञान में होते हुए जन्नत व सरवर को यह नही कहा कि कोरनटैन व थर्मास्क्रीनिग सलाह नही दी गई कोरोना महामारी को ताक में रख दिया जिम्मेदार ऑफिसर ने।

शहर सवांददाता तनवीर की रिपोर्ट