ALL उत्तरप्रदेश विदेश राष्ट्रीय शिक्षा खेल धर्म-अध्यात्म मनोरंजन संपादकीय epaper
सीबीएसई की भांति उत्तर पुस्तिकाएं शिक्षकों के घर भेजकर मूल्यांकन कराया जाय।
May 11, 2020 • Team janadhikar • उत्तरप्रदेश

  सीबीएसई की भांति उत्तर पुस्तिकाएं शिक्षकों के घर भेजकर मूल्यांकन कराया जाय।

रायबरेली
   
     भारत सरकार द्वारा सी0बी0एस0ई0 के हाई स्कूल एवं इण्टर के परीक्षार्थियों की उत्तर पुस्तिकाओं को परीक्षकों के आवास पर ही मूल्यांकन कराये जाने के निर्णय के अनुरूप उत्तर प्रदेश में भी शिक्षकों के घर पर उत्तर पुस्तिकाएं भेज का मूल्यांकन कराया जाय अन्यथा की स्थिति में किसी अप्रिय परिस्थिति की प्रतीक्षा किए बिना ही शिक्षक परीक्षकों को सविनय अवज्ञा के मार्ग का अनुकरण करने को बाध्य होना पड़ सकता है। यह घोषणा आज उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षक संघ के अध्यक्ष ओम प्रकाश शर्मा ने प्रदेश के मुख्यमंत्री एवं उप-मुख्यमंत्री/ माध्यमिक शिक्षामंत्री डा0 दिनेश शर्मा को भेजे गए पत्र में की है, जिसकी प्रति भारत सरकार के मानव संसाधन विकास मंत्री मा0 रमेश पोखरियाल निशंक, प्रमुख सचिव, माध्यमिक शिक्षा, शिक्षा निदेशक माध्यमिक/सभापति एवं सचिव, माध्यमिक शिक्षा परिषद को भी भेजी है।*         
             *संगठन के प्रदेशीय मंत्री एवं प्रवक्ता डा0 आर0पी0 मिश्र ने बताया कि अध्यक्ष ओेम प्रकाश शर्मा ने अपने पत्र में लिखा है कि भारत सरकार के निर्णय से प्रोत्साहित होकर उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षक संघ पुनः राज्य सरकार एवं माननीय शिक्षामंत्री माध्यमिक से अनुरोध करता है कि घरों पर ही मूल्यांकन कार्य करायें जिससे कि मूल्यांकन कार्य समय से सम्पन्न हो सके और शिक्षक भी कोरोना के प्रकोप से सुरक्षित अपने आवास पर ही मूल्यांकन को सम्पन्न करा सके। उल्लेखनीय है कि उत्तर पदेश माध्यमिक शिक्षक संघ की ओर से पहले भी यह अनुरोध किया गया था कि मूल्यांकन की पुरानी प्रथा को इस संकट काल में अपना कर उत्तर पुस्तकें परीक्षकों के आवासों पर पहुंचने की व्यवस्था करा दी जाये। स्पष्ट है कि इस प्रकार सोशल डिस्टेन्सिंग, सैनीटाइजेन, हैण्डवाश, आदि के साथ-साथ फेस मास्क तथा दस्ताने जैसी आवश्यक वस्तुओं की अनिवार्यता से भी बचा जा सकेगा।*         
         *ओम प्रकाश शर्मा ने अपने पत्र में सरकार से पुनः अनुरोध किया है कि ग्रीन जोन सहित अन्य सभी क्षेत्रों में मूल्यांकन कार्य घरों पर सम्पन्न कराये जाने की सी0बी0एस0ई0 की भांति ही व्यवस्था सुनिचित करायी जाय। यह स्थिति सभी के लिए सुखद होगी तथा शिक्षक परिवारों को भी शिक्षकों के स्वास्थ्य के प्रति चिन्ता मुक्त कराया जा सकेगा।*          
       *ओम प्रकाश शर्मा ने पत्र में विश्वास व्यक्त किया है कि भारत सरकार के निर्णय के अनुरूप घरों पर ही मूल्यांकन कराये जाने का निर्णय लेकर अपने पुराने निर्णय को निरस्त करेगी और शिक्षक परिवार भी चिन्ताओं से मुक्त हो सकेगें।*
          *ओम प्रकाश शर्मा ने अपने पत्र में उत्तर प्रदे माध्यमिक शिक्षक संघ की ओर से माननीय रमेश पोखरियाल निशंक, मानव संसाधन विकास मंत्री, भारत सरकार को धन्यवाद ज्ञापित किया है कि उनका शिक्षकों के घर उत्तर पुस्तिकाओं को भेज कर मूल्यांकन कराये जाने का निर्णय परीक्षकों के हितों के प्रति सम्वेदना एवं सद्भावना तथा उत्तर पुस्तकों के समय रहते मूल्यांकित किए जाने के हित में लिया गया है।                                                          डा0 आर0 पी0 मिश्र                                                                    प्रदेशीय मंत्री एवं प्रवक्ता
                    रिपोर्ट ःः   प्रेम चन्द भारती वरिष्ठ
                       संवाददाता रायबरेली