ALL उत्तरप्रदेश विदेश राष्ट्रीय शिक्षा खेल धर्म-अध्यात्म मनोरंजन संपादकीय epaper
सीएम योगी पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे का करेंगे हवाई निरीक्षण, अगस्त तक परियोजना पूर्ण करने का वादा
February 9, 2020 • Tariq • उत्तरप्रदेश

 

सीएम योगी पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे का करेंगे हवाई निरीक्षण, अगस्त तक परियोजना पूर्ण करने का वादा।

प्रदेश की महत्वाकांक्षी पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे परियोजना का लगभग 60 फीसद कार्य पूर्ण होने की ओर है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इसके अगस्त 2020 में पूरा होने का दावा किया था। लखनऊ से आजमगढ़ होते हुए गाजीपुर तक देश के सबसे बड़े एक्सप्रेस-वे की प्रगति जानने दो वर्ष बाद फिर आ रहे हैं। जिलाधिकारी नागेंद्र प्रसाद सिंह ने बताया कि मुख्यमंत्री 10 फरवरी को गोरखपुर से हेलीकाप्टर से लगभग 12.30 बजे चलकर एक्सप्रेस-वे का हवाई निरीक्षण करते हुए यूपीडा के किशुनदासपुर स्थित प्रोजेक्ट ऑफिस पहुंचेंगे। सीएम की समीक्षा बैठक को लेकर प्रशासनिक अमला तैयारी में जुट गया है।
मुख्यमंत्री ने 21 दिसंबर 2018 को अमेठी, सुल्तानपुर के बाद आजमगढ़ में पूर्वाचल एक्सप्रेस-वे का हवाई सर्वेक्षण किया था।
अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक में कहा था कि पूर्वी उत्तर प्रदेश को जोडऩे वाला 341 किमी लंबा देश का सबसे बड़ा एक्सप्रेस-वे 24 माह के अंदर देश को समर्पित होगा। एक्सप्रेस-वे पूर्वी उत्तर प्रदेश के रीढ़ की हड्डी बनेगी। रोजगार के अवसर प्रदान होंगे और विकास में मील का पत्थर साबित होगा। इसके बन जाने से देश के बहुतायत इलाके एक-दूसरे से जुड़ जाएंगे। एक्सप्रेस-वे के दोनों तरफ औद्योगिक गलियारा बनेगा। जिससे रोजगार के अवसर सृजित होंगे। कहा था कि जितनी भी विकास की संभावनाएं होंगी, उसे पूरा किया जाएगा। इधर, अब संभावना जताई जा रही है कि दीवावली तक पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे पर वाहन फर्राटा भरने लगेंगे।
110 गावों के 18507 किसानों की भूमि हो रही आच्छादित
जनपद में तहसील फूलपुर के ग्राम खंडौरा से तहसील सदर के गांव केरमा तक लगभग 86 किमी एक्सप्रेस-वे का निर्माण चल रहा है। चार तहसीलों के 110 गांवों के 18507 किसानों की 908.1662 हेक्टेयर भूमि क्रय की जानी है। जिससे सापेक्ष अब तक 14,449 किसानों से 868.6823 हेक्टेयर भूमि खरीदी जा चुुकी है। लगभग 96 फीसद भूमि खरीद का कार्य पूरा हो चुका है। 112 हेक्टेयर सरकारी भूमि के पुनर्ग्रहण व अदला-बदली (विनिमय) हो चुका है। तहसील सदर के 41, सगड़ी के 15, निजामाबाद के 22 व फूलपुर के 32 गांवों से गुजर रही एक्सप्रेस-वे निर्माण को भूमि खरीद को यूपीडा की ओर से 1346.56 करोड़ रुपये अवमुक्त किए गए हैं। जिसमें अब तक 1307 करोड़ रुपये खर्च हो चुके हैं। लगभग 68 गांवों में 47 हेक्टेयर में कुल 2.5 किमी सड़क निर्माण में प्रतिकर सहित विभिन्न अवरोध है। जिसके अधिग्रहण की कार्रवाई चल रही है।
गोरखपुर लिंक एक्सप्रेस-वे भी प्रगति पर
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की एक और महत्वाकांक्षी गोरखपुर-आजमगढ़ लिंक एक्सप्रेस-वे परियोजना का कार्य भी प्रगति पर है। जिले की दो तहसील बूढऩपुर के 39 व फूलपुर के दो गांवों के किसानों 244 हेक्टेयर और 115 हेक्टेयर सरकारी भूमि से एक्सप्रेस-वे का निर्माण होगा। इसमें अब तक 230 हेक्टेयर किसानों की भूमि का क्रय किया जा चुका है। जबकि 14 हेक्टेयर सरकारी भूमि के अधिग्रहण का कार्य पूरा हो गया है। 50 फीसद भूमि अर्जन व बैनामा का कार्य पूरा हो चुका है। गिरी संस्था के कर्मचारी दोनों तहसीलों के गांवों का सर्वे कर रहे हैं।

रिपोर्ट@त्रिलोकी नाथ