ALL उत्तरप्रदेश विदेश राष्ट्रीय शिक्षा खेल धर्म-अध्यात्म मनोरंजन संपादकीय epaper
शाहीन बाग वाली ओखला सीट पर AAP को मिली चुनाव की सबसे बड़ी जीत, अमानतुल्लाह रिकॉर्ड बनाने की ओर
February 11, 2020 • Tariq • राष्ट्रीय

 

शाहीन बाग वाली ओखला सीट पर AAP को मिली चुनाव की सबसे बड़ी जीत, अमानतुल्लाह रिकॉर्ड बनाने की ओर।

नई दिल्ली. दिल्ली विधानसभा (Delhi assembly election) चुनावों का मुद्दा बने शाहीन बाग (Shaheen bagh) वाली ओखला विधानसभा (Okhla assembly) ने इस बार एक बड़ा रिकॉर्ड कायम किया है. आम आदमी पार्टी (AAP) के चर्चित उम्मीदवार अमानतुल्लाह खान (Amanatullah khan) ने 77 हजार से अधिक वोटों से जीत हासिल की है.

90 हजार से अधिक वोट पाकर उन्होंने भारतीय जनता पार्टी (BJP) के उम्मीदवार को करारी शिकस्त दी है. ऐसा दावा किया जा रहा है कि दिल्ली के विधानसभा चुनाव 2020 की यह सबसे बड़ी जीत है. गौरतलब है कि शाहीन बाग ही वो जगह है जहां बीते 55 दिन से महिलाएं नागरिकता संशोधन कानून (CAA) और नेशनल रजिस्टर ऑफ सिटीजन (NRC) के खिलाफ प्रदर्शन कर रही हैं।
बीजेपी उम्मीदवार को मिले सिर्फ 14543 वोट
ओखला विधानसभा सीट पर 8 फरवरी को कुल 58.84 फीसद वोटिंग हुई थी. लेकिन 11 फरवरी को जब वोटों की गिनती शुरु हुई तो वोटों का पिटारा आप के अमानतुल्लाह के खाते में गया. वोटों की गिनती शुरु होने से शायद दो या तीन मौके ही ऐसे आए होंगे जब आप उम्मीदवार पिछड़े हों. लेकिन दोपहर बाद जब अमानतुल्लाह जीत की गाड़ी में सवार हुए तो फिर मंजिल पर पहुंचकर ही दम लिया. लेकिन जीत भी कोई ऐसी-वैसी नहीं मिली, दिल्ली चुनावों में रिकॉर्ड कायम करते हुए 77080 वोटों से बीजेपी के उम्मीदवार ब्रहम सिंह को शिकस्त दी. शाहीन बाग के चलते ओखला पर लगी हैं निगाहें 

ओखला विधानसभा की बात करें तो यहां कुल आबादी की 43 फीसदी आबादी मुस्लिमों की बताई जाती है. हालांकि 1977 में पहली जीत जनता पार्टी के उम्मीदवार को मिली थी. लेकिन उसके बाद से यह सीट कांग्रेस के खाते में जाती रही है. 2015 में आप ने यह सीट कांग्रेस से छीन ली थी. हालांकि जामिया मिल्लिया इस्लामिया यूनिवर्सिटी भी ओखला में ही आती है. लेकिन आज ओखला जामिया से ज्यादा शाहीन बाग के नाम से जाना जा रहा है. 55 दिन बीत जाने के बाद भी शाहीन बाग में धरना चल रहा है. गौरतलब है कि इसी शाहीन बाग को बीजेपी ने चुनावी मुद्दा बनाया था. इसी के चलते दिल्ली चुनावों में भी शाहीन बाग सुर्खियों में आ गया था।

रिपोर्ट@त्रिलोकी नाथ