ALL उत्तरप्रदेश विदेश राष्ट्रीय शिक्षा खेल धर्म-अध्यात्म मनोरंजन संपादकीय epaper
शराब बनी सिरदर्द, अफरातफरी लंबी कतारें और लाठीचार्ज, लॉक डाउन की उड़ी धज्जियां
May 4, 2020 • Team janadhikar • राष्ट्रीय

 

-शराब बनी सिरदर्द, अफरातफरी लंबी कतारें और लाठीचार्ज, लॉक डाउन की उड़ी धज्जियां..

-नतीजा ये है कि दिल्ली में शराब के ठेकों के आगे 500-500 लोगों की लंबी कतारें लग गईं, लाठीचार्ज, बंद करने पड़े कुछ ठेके..

-लखनऊ में शराब की दुकानें खुलने से पहले लग गई लम्बी लाइनें, शराब के शौकीन लोगों ने लॉकडाउन और सोशल डिस्टेसिंग जैसी सारी लक्ष्मण रेखाओं को तोड़ डाला..

लखनऊ, 04 मई 2020,  दिल्ली सहित कई जगहों पर शराब की दुकाने खोलने का फैसला सिरदर्द बनता जा रहा है, शराब के शौकीन लोगों ने लॉकडाउन और सोशल डिस्टेसिंग जैसी सारी लक्ष्मण रेखाओं को तोड़ डाला है और नतीजा यह है कि शराब के ठेकों के आगे 500-500 लोगों की कतारें लगीं हुई हैं, दिल्ली के  नरेला करोलबाग, चन्द्र नगर, कृष्णा नगर, नरेला ,गीता कॉलोनी जैसे इलाकों सहित पूर्वी दिल्ली में शराब की दुकानें बंद कर दी गई हैं और कई जगहों पर पुलिस को लाठीचार्ज करना पड़ा है, दिल्ली के दरियागंज में शराब की एक दुकान पर करीब 500 लोगों की लाइन लगी हुई है, इसी तरह कोलकाता में भी भीड़ को नियंत्रित करने के लिए पुलिस को लाठी चार्ज करना पड़ा है,
सरकार के एक अधिकारी के अनुसार केन्द्रीय गृह मंत्रालय (एमएचए) के लॉकडाउन के नियमों में ढील देने के बाद दिल्ली में शराब की करीब 150 दुकानों को खोलने की अनुमति दी गई है, शहर में सरकारी एजेंसियों और निजी तौर पर चलाई जाने वाली 850 शराब की दुकानें हैं।. आदेश में आबकारी विभाग ने अधिकारियों से एल-7 लाइसेंस प्राप्त निजी दुकानों की पहचान करने को भी कहा है, जो एमएचए के निर्देशों को पूरा करती हों, अधिकारियों से तीन दिन में रिपोर्ट सौंपने को कहा गया है।

लखनऊ में शराब की दुकानें खुलने से पहले लग गई लम्बी लाइनें

वहीं यूपी की राजधानी लखनऊ लॉक डाउन के तीसरे फेज में शराब की दुकानों को खोलने की छूट मिली है। लखनऊ के लोग शराब के लिये कितना व्याकुल थे, इसका नजारा सोमवार सुबह से ही दिखने लगा। दुकान खुलने का समय 10 बजे सुबह था लेकिन इससे काफी पहले शराब की दुकानों के सामने लोगों की लाइनें लग गई थी। शराब के शौकीन जल्दी से जल्दी अपना कोटा खरीद लेना चाह रहे थे। कोई एक बोतल लेता दिखा तो कोई तीन-चार बोतल। कई दुकानों के बाहर तो पुलिस को डंडे के बल पर लोगों को लाइनें लगवानी पड़ी। सोशल डिस्टेसिंग को ताक पर रखते हुए लोग शराब खरीदने के लिए भारी भीड़ जुटा कर लॉक डाउन की धज्जियां उड़ाते हुए दिखाई दिए।

सोशल मीडिया पर खूब फोटो हो रही वायरल

शराब की दुकानों पर भीड़ की कई फोटो और वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होने लगे। रविवार शाम को भी शराब की दुकानें खुलने पर सहमति बनने के बाद कई तरह के व्हाटसएप आने लगे थे। किसी फोटो में दिखा कि लोग दोनों हाथों में बोतल लेकर खुशी का इजहार कर रहे हैं तो कहीं अपना नम्बर आने के बाद खुशी दिखाते हुए फोटो खूब चर्चा में रही।

लखनऊ में शराब के शौकीन लोगों ने लॉकडाउन और सोशल डिस्टेसिंग जैसी सारी लक्ष्मण रेखाओं को तोड़ डाला, पुलिस को मशक्कत करनी पडी

12-12 घंटे से ज्यादा डयूटी दे रहे पुलिसकर्मियों को सोमवार को शराब दुकानों पर भी चहलकदमी करनी पड़ी। हॉट स्पॉट के बाहर के सभी थानेदार अपने इलाके में निरीक्षण करते दिखे। गोमतीनगर के ग्वारी गांव, हजरतगंज में कृषि भवन के पास, अलीगंज, जानकीपुरम, उदयगंज, लालबाग व अन्य इलाकों में काफी भीड़ दिखी। लालबाग में शराब की दुकान पर सोशल डिस्टेसिंग को लेकर हुए बवाल पर दुकान बंद करनी पड़ी, साथ ही बीयर की दुकानों पर लम्बी कतारें लगी रहीं। यहां तक कि शराब के शौकीन लोगों ने लॉकडाउन और सोशल डिस्टेसिंग जैसी सारी लक्ष्मण रेखाओं को तोड़ डाला।

अब सवाल ये उठता है कि एक तरफ जहां सोशल डिस्टेसिंग का पालन कराने के लिए घरों से न निकलने पर जोर और हर तरह के प्रयास किए जा रहें हैं वहीं दूसरी तरफ शराब के लिए भारी मात्रा में घरों से बाहर निकाला जा रहा है, इस वक्त जहां सरकार को कोरोना की रोकथाम को गंभीरता से लेकर तमाम उपायों के साथ कोरोना की रोकने की जरूरत है ऐसे में शराब की दुकान खुलने से भारी भीड़ जुटने से आने वाले समय में स्थिति और भी भयावह हो सकती है।

रिपोर्ट @ आफाक अहमद मंसूरी