ALL उत्तरप्रदेश विदेश राष्ट्रीय शिक्षा खेल धर्म-अध्यात्म मनोरंजन संपादकीय epaper
शिक्षक विधायक लखनऊ निर्वाचन क्षेत्र श्री बृजेश तिवारी ने शिक्षक साथियों से की को रोना पीड़ितों के लिए 1 दिन की वेतन की मांग
April 2, 2020 • Tariq • उत्तरप्रदेश

शिक्षक विधायक लखनऊ निर्वाचन क्षेत्र श्री बृजेश तिवारी ने शिक्षक साथियों से की को रोना पीड़ितों के लिए 1 दिन की वेतन की मांग

आज पूरा देश कोरोना महामारी से लड़ रहा है ।माननीय प्रधानमंत्री एवं मुख्यमंत्री जी के आह्वान पर देश के लोग प्रधानमंत्री राहत कोष एवं मुख्यमंत्री राहत कोष में अपनी तरफ से आर्थिक मदद कर रहे हैं। कुछ शिक्षक नेता जो स्वयं वेतन नहीं पाते हैं लेकिन वेतन भोगी शिक्षकों के ठेकेदार बने हुए हैं । उन्होंने सरकार से सारे शिक्षकों के 1 दिन का वेतन राहत कोष में देने की घोषणा की। शिक्षक  बुद्धिजीवी है , वह देश और समाज की परिस्थितियों को समझता है । कब देश को आर्थिक सहयोग देना है , कब नहीं देना है । यह शिक्षक भली भांति जानता है ।अतः शिक्षकों के वेतन का ठेकेदार बनने की आवश्यकता किसी को नहीं है। देश और समाज की दशा को देखकर सारे शिक्षक भी इस महामारी से लड़ने के लिए सरकार के साथ हैं। जो भी शिक्षक आर्थिक मदद देना चाहते हैं, वे स्वेच्छा से प्रधानमंत्री या मुख्यमंत्री राहत कोष में दान करें।  सीधे प्रधानमंत्री/ मुख्यमंत्री राहत कोष में दी गई धनराशि आयकर मुक्त होगी । शिक्षक गण सीधे सरकार को अपनी आर्थिक मदद दें, किसी बिचौलिए या ठेकेदार के माध्यम से नहीं। बिचौलिए उनकी मदद पर अपनी नेतागिरी चमकाएंगें जबकि देने वाले को कोई लाभ नही मिलेगा। हमें कितना दान देना है , कितना नही, यह तय करने वाला कोई और नही हो सकता है।  हो सकता है कुछ शिक्षक 500/ का दान करें, तो कुछ शिक्षक 5000/ का , तो कुछ शिक्षक 50000/ का या इससे अधिक दान कर सकते हैं । यह  तय करने वाला कोई और  कैसे हो सकता है  कि कौन सा शिक्षक कितना आर्थिक सहयोग देगा।
  अतः शिक्षकों को  स्वेच्छा से अपनी धनराशि सीधे प्रधानमंत्री या मुख्यमंत्री राहत कोष  में भेजनी चाहिए।

सुरेश बहादुर सिंह लालगंज सवांददाता