ALL उत्तरप्रदेश विदेश राष्ट्रीय शिक्षा खेल धर्म-अध्यात्म मनोरंजन संपादकीय epaper
यूपी में पत्नी की लाश को ठिकाने लगा रहा था युवक खुद ही डूब कर मरा
January 16, 2020 • Tariq • उत्तरप्रदेश

 

यूपी में पत्नी की लाश को ठिकाने लगा रहा था युवक खुद ही डूब कर मरा.....

चित्रकूट- चित्रकूट में पत्नी की लाश को ठिकाने लगाने के चक्कर में, एक शख्स की डूब कर मौत हो गई है। जिले की कर्वी ब्लाक की पूर्व ब्लाक प्रमुख के पुत्र भरत दिवाकर ने कल शाम अपनी पत्नी की हत्या की, साजिश रची और अपने लोगों के साथ मिलकर हत्या कर दी, इसके बाद लाश ठिकाने लगाने की पूरी व्यवस्था भी मुकम्मल कर ली थी। भरत दिवाकर ने चित्रकूट के बरवाला में मछली पकड़ने का, ठेका भी ले रखा था, कल शाम उसने अपने आदमी से बांध में एक डोगी छोटी नाव बांधकर घर चले जाने, और उसके बाद फोन कर उसे जानकारी देने की बात कही थी, इसके बाद भरत दिवाकर ने अपने एक और चेले, को कर्वी में ही एक घर में सोने की हिदायत दी और कहा कि रात में कुछ लोग बांध में मछली का शिकार करने आते हैं हम लोग उन्हें पकड़ने चलेंगे, इसके बाद भरत दिवाकर ने अपनी पत्नी की हत्या कर दी, और उसकी लाश को अपने स्कॉर्पियो में डालकर प्लान के मुताबिक रामसेवक को लेने जा पहुंचा। जब राम सेवक ने गाड़ी में लाश देखी तो, उसकी रूह कांप गई, राम सेवक ने जब भारत दिवाकर का साथ देने से इनकार किया तो, भरत ने उसने अपनी पत्नी की चरित्र हीनता की हवाला देते हुए, उसे अपने साथ लेकर लाश ठिकाने लगाने के लिए, बरुआ बाधं पहुंच गया। प्लान के मुताबिक बरुआ बाधं में पहले से ही एक डोगी छोटी नाव किनारे बंधी थी। रामसेवक के साथ मिलकर भरत दिवाकर पत्नी की लाश को उस डोगी में ले गया, और लाश में बड़े-बड़े पत्थर बांधकर पानी में फेंक देने के लिए, डोंगी गहरे पानी की तरफ ले गया, जब भरत दिवाकर रामसेवक को साथ लेकर पत्नी के लाश को बाधं में फेंक रहा था, तभी डोंगी का डिसबैलेंस हो जाने के साथ भरत दिवाकर और राम सेवक भी बांध के पानी में जा गिरे, बांध के गहरे पानी में गिर कर, रामसेवक तो किसी तरह तैरकर किनारे पर आ गया। लेकिन भरत दिवाकर डोंगी सहित बांध में ही डूब गया जिससे उसकी भी मौत हो गई सुबह रामसेवक ने पुलिस को मनगढ़ंत कहानी सुना कर भरत दिवाकर की हत्या की सूचना दी लेकिन, जब पुलिस ने कड़ाई से पूछताछ की तो उसने सरा राज उगल दिया। पुलिस भरत दिवाकर और उसकी पत्नी की लाश ढूंढने के लिए बांध में जाल डलवा रही है। और गोताखोरों को भी लगाया गया है। घटना के लगभग 16 घंटे बीत जाने के बाद भी अभी तक दोनों,में से किसी की भी लाश अभी तक कोई पता नहीं चल पाया है।

दीपक कुमार की रिपोर्ट